जब ऋषि कपूर बोले- मैं रणबीर का बाप हूं, सेक्रेटरी नहीं

रणबीर कपूर और उनके पिता ऋषि कपूर के बीच रिश्ते बीच कड़ुआहट को लेकर जब-तक कड़ुई खबरें बनती रहती हैं. एक हालिया खबर के मुताबिक ऋषि कपूर ने झल्लाते हुए रिपोर्ट्स से कहा, “मैं रणबीर का बाप हूं, सेक्रेटरी नहीं.”जब ऋषि कपूर बोले- मैं रणबीर का बाप हूं, सेक्रेटरी नहीं
शुक्र है अब बॉलीवुड जगत में ऐसे बयान दिए जा सकते हैं. वरना अर्से तक वाकई पापा, मम्मी ही कलाकारों के सेक्रेटरी हुआ करते थे. हालांकि ऋषि कपूर का झल्लाना लाजमी है. असल में इस पिता-पुत्र की कहानी ही ऐसी है.

ये भी पढ़े: अभी अभी: PM मोदी के हुए लापता, सड़कों पर लगाये गये पोस्टर, मचा हड़कंप…

रणबीर कपूर भी कितनी दफे सार्वजनिक तौर पर कह चुके हैं कि रात 10 बजने के बाद उनके पिता किस हाल में होते हैं, यह सबको पता है. इसलिए रात 10 के बाद कही गई उनकी बातों के बारे में उनसे चर्चा न ही की जाए तो बेहतर है.

 बहरहाल, कपूरों पर लिखी गई मधु जैन की किताब दी कपूर्स में रणबीर कपूर और ऋषि कपूर के रिश्ते की बारीकी समझ आती है. किताब के अनुसार ऋषि एक अधिकारवादी पिता और कड़े अनुशासक रहे हैं. एकदम उसी तरह जैसे वह अपने पिता राज कपूर के सामने एक अक्षर भी नहीं बोल पाते थे. वैसे ही अपने बच्चों के साथ बर्ताव करते रहे.

उनकी बेटी रिद्ध‌िमा कहती हैं, मेरे पिता संकोची और दकियानूसी हैं. अपने किशोरावस्‍था में हमने उनके साथ ज्यादा वक्त नहीं गुजारा है.

ये भी पढ़े: भारी बारिश का अलर्टः सावधान, छह जिलों में हो सकता है भारी नुकसान…

यही हालत रणबीर कपूर की रही है. उन्होंने भी अपने पिता के साथ अधिक वक्त नहीं गुजारा है. बल्कि उनके बचपने और किशोरावस्‍था के दौरान की कहानी और ट्रेजडी भरी है.

ऋषि कपूर किसी जमाने में (फिल्म- बॉबी के बाद) फैशन आइकन रहे. सिनेजगत की बुलंदियां छूईं. पर बाद में वह मेन स्ट्रीम से बाहर हो गए. शराबखोरी कपूरों की रवायत है. फिर वह भी शराब में डूबे रहने लगे.

जैसा कि आज उनके एक ट्वीट से हम अंदाजा लगा लेते हैं कि इस वक्त ऋषि शराब पी चुके हैं या नहीं. क्योंकि बिना पिए ऋषि और पी चुके ऋषि में बहुत अंतर है. बिना पिया ऋषि बड़ी से बड़ी को टाल जाता है.

ये भी पढ़े: जब सनी लियोन की एक झलक के लिए बेताब फैन्स पर पुलिस ने किया लाठी चार्ज…

लेकिन पिया हुआ ऋषि आम बातों पर झगड़े और मार-कुटाई पर उतर आता है. ठीक इसी तरह उन दिनों में जब नीतू कपूर ने फिल्में करना बंद कर दी थीं.

ऋषि को मनमाफिक काम नहीं मिल रहा था. रणबीर और रिद्ध‌िमा किशोरावस्‍था में थे. और ऋषि हर शाम शराब पी लेते थे.

 
मधु जैन की किताब के मुताबिक शराब उनके बुरे पहलुओं को उभार देती है. खुद नीतू ने कितने ही पत्रकारों को दिए साक्षात्कारों में अपने पति के नशा कर लेने के बाद की जाने वाली बदसलूकी का जिक्र कर चुकी हैं.

ये भी पढ़े: जब जैकलीन ने लगाया फिर हॉटनैस का तड़का, सोशल मीडिया पर शेयर की बैकलेस टॉप की तस्वीर

अपनी शादीशुदा जिंदगी के बारे में बात करते हुए उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया कि कैसे उस भरे-पुरे परिवार में सिर्फ एक शख्स ऐसा था जो उन्हें खुद के पति की बदसलूकियों बचा पाता था, वह है उनका बेटा, रणबीर.

 

असल में जब ऋषि शराब पी लेते हैं तो कई तरह की बातों को लेकर उत्तेजित हो जाते थे अभी भी हो जाते हैं. हालांकि तब वह नजर के सामने आने वाली हर चीज को तोड़-फोड़ दिया करते थे. तब रणबीर उनके सामने आकर खड़े हो जाया करते थे.
 

You May Also Like

English News