…जब पीएम से बात करने कड़कनाथ मुर्गे के साथ पहुंची महिला किसान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को नमो ऐप के जरिए देश भर के किसानों से बात की. इस दौरान पीएम ने अपनी सरकार की योजनाओं और किसानों की आय दोगुनी करने के बारे में बात की. कई किसानों ने अपने अनुभव प्रधानमंत्री से बात भी की.कड़कनाथ प्रजाति का मुर्गा सदियों से आदिवासी बहुल्य राज्यों में ही उपलब्ध और संरक्षित रहा है. वास्तव में यह एक जंगली मुर्गा है,  जो पूरी तरह से प्राकृतिक वातावरण में रहने से सामान्य मुर्गों की तुलना में भारी भरकम और आक्रामक होता है. आमतौर पर यह जेट ब्लैक और काले में हल्का लाल रंग के पंखों वाला दो कलर में मिलता है.  काले खून और स्वादिष्ट मांस के लिए जाना जाता है कड़कनाथ  इसका खून का रंग भी सामान्यतः काले रंग का होता है, जबकि आम मुर्गे के खून का रंग लाल पाया जाता है. इसका मांस काफी कड़ा होता है. सामान्य मुर्गों के पकने की तुलना में कड़कनाथ का मांस दुगना समय लेता है. इसका स्वाद भी लाजवाब होता है. लोगों के बीच प्रचलन है कि कड़कनाथ के मांस का सेवन करने से सेक्सुअल पावर बढ़ता है और यह शक्तिवर्धक दवाइयों से ज्यादा कारगर होता है. इसके चलते कड़कनाथ का जमकर शिकार हुआ.  इनके अलावा भी प्रधानमंत्री ने कई किसानों से बात की. इसी दौरान छत्तीसगढ़ की एक महिला ने बताया कि किसान योजना के तहत उन्हें खेती करने के लिए लोन मिला. इसके साथ उन्होंने सीताफल की खेती की और साथ में घर पर ही आइसक्रीम भी बनाना शुरू किया. जिससे उनकी आय काफी हद तक बढ़ गई. इस दौरान महिला ने कहा कि अगर आप उनके सामने होते तो वह जरूर उन्हें आइसक्रीम खिलातीं.  बता दें कि इस दौरान उन्होंने कृषि क्षेत्र की बेहतरी के लिये सरकार द्वारा की गई पहलों के बारे में भी बताया. प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान हमारे अन्नदाता हैं, वो हमें भोजन देते हैं. देश की अर्थव्यवस्था को बदलने का पूरा श्रेय सिर्फ किसानों को ही जाता है. PM मोदी ने कहा कि देश के विकास के लिए किसानों ने खून-पसीना एक कर दिया.  प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम आय दोगुनी करने की बात करते हैं तो लोग हमारा मज़ाक उड़ाते हैं. किसान आज रिस्क लेने को तैयार है, परिणाम देने को भी तैयार है और उसने अभी तक ऐसा ही किया है. चार बिंदुओं पर ध्यान दे किसानों की आय दोगुनी की जा सकती है.

इसी दौरान मध्य प्रदेश की चम्पा निमामा ने प्रधानमंत्री से बात की. उन्होंने बताया कि वह कड़कनाथ मुर्गे की फार्मिंग करती हैं, अब उनके पास 20 से ज्यादा मुर्गे हैं. इससे उनकी कमाई बहुत ज्यादा हो गई है. पीएम के साथ बात करने के दौरान चम्पा अपने साथ कड़कनाथ मुर्गा लेकर ही आईं. इस दौरान पीएम ने भी उनके साथ हंसी मजाक किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे यह देखकर खुशी हो रही है कि श्रीमति चम्पा निनामा जी कड़कनाथ की फ़ार्मिंग कर अपनी आय बढ़ाने में सक्षम हुई हैं. इससे आपके आस-पास के गांवों के लोग भी मुर्गी पालन के लिए प्रेरित हुए होंगे.

कड़कनाथ प्रजाति का मुर्गा सदियों से आदिवासी बहुल्य राज्यों में ही उपलब्ध और संरक्षित रहा है. वास्तव में यह एक जंगली मुर्गा है,  जो पूरी तरह से प्राकृतिक वातावरण में रहने से सामान्य मुर्गों की तुलना में भारी भरकम और आक्रामक होता है. आमतौर पर यह जेट ब्लैक और काले में हल्का लाल रंग के पंखों वाला दो कलर में मिलता है.

काले खून और स्वादिष्ट मांस के लिए जाना जाता है कड़कनाथ

इसका खून का रंग भी सामान्यतः काले रंग का होता है, जबकि आम मुर्गे के खून का रंग लाल पाया जाता है. इसका मांस काफी कड़ा होता है. सामान्य मुर्गों के पकने की तुलना में कड़कनाथ का मांस दुगना समय लेता है. इसका स्वाद भी लाजवाब होता है. लोगों के बीच प्रचलन है कि कड़कनाथ के मांस का सेवन करने से सेक्सुअल पावर बढ़ता है और यह शक्तिवर्धक दवाइयों से ज्यादा कारगर होता है. इसके चलते कड़कनाथ का जमकर शिकार हुआ.

इनके अलावा भी प्रधानमंत्री ने कई किसानों से बात की. इसी दौरान छत्तीसगढ़ की एक महिला ने बताया कि किसान योजना के तहत उन्हें खेती करने के लिए लोन मिला. इसके साथ उन्होंने सीताफल की खेती की और साथ में घर पर ही आइसक्रीम भी बनाना शुरू किया. जिससे उनकी आय काफी हद तक बढ़ गई. इस दौरान महिला ने कहा कि अगर आप उनके सामने होते तो वह जरूर उन्हें आइसक्रीम खिलातीं.

बता दें कि इस दौरान उन्होंने कृषि क्षेत्र की बेहतरी के लिये सरकार द्वारा की गई पहलों के बारे में भी बताया. प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान हमारे अन्नदाता हैं, वो हमें भोजन देते हैं. देश की अर्थव्यवस्था को बदलने का पूरा श्रेय सिर्फ किसानों को ही जाता है. PM मोदी ने कहा कि देश के विकास के लिए किसानों ने खून-पसीना एक कर दिया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम आय दोगुनी करने की बात करते हैं तो लोग हमारा मज़ाक उड़ाते हैं. किसान आज रिस्क लेने को तैयार है, परिणाम देने को भी तैयार है और उसने अभी तक ऐसा ही किया है. चार बिंदुओं पर ध्यान दे किसानों की आय दोगुनी की जा सकती है.

You May Also Like

English News