जब मंत्री के घर नशे की हालत में रिश्वत देने पहुंचे जेल अधीक्षक, जानिए तब क्या हुआ!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश मेें अफसरशाही का आलम से कौन वाकिफ नहीं है। पर अब तक हद ही हो गयी। बाराबंकी का जेल अधीक्षक मंगलवार रात नशे में धुत होकर कारागार एवं लोक सेवा प्रबंधक के राज्यमंत्री जय कुमार सिंह जैकी से मिलने डालीबाग स्थित उनके आवास पहुंच गया। इस पर मंत्री बिफर पड़े तो उसने 50 हजार रुपये से भरा पैकेट थमा दिया।

मंत्री ने सुरक्षाकर्मियों से जेल अधीक्षक को पकडऩे को कहा तो वह भाग निकला।मंत्री के शैडो की ओर से हजरतगंज कोतवाली में केस दर्ज कराया गया है। मंगलवार रात मंत्री आवास पर थे कि तभी करीब साढ़े नौ बजे बाराबंकी जेल अधीक्षक उमेश कुमार वहां आ पहुंचा। उसने मंत्री के स्टाफ से जरूरी काम बताते हुए मिलने के लिए कहा।

इस पर मंत्री ने उसे कमरे में बुलवाया। जेल अधीक्षक को नशे में देखते ही मंत्री भड़क उठे। उन्होंने उमेश कुमार को फटकारते हुए सुरक्षाकर्मियों से उसे बाहर निकालने के लिए कहा। इस पर जेल अधीक्षक ने जेब से लिफाफा निकालकर टेबल पर रख दिया। इसमें 2000 व 500-500 रुपये के नोटों के रूप में 50 हजार रुपये थे। लिफाफा देखते ही मंत्री का पारा और चढ़ गया और उन्होंने जेल अधीक्षक को पकडऩे के लिए कहा।

इस पर सुरक्षाकर्मी पीछे दौड़े लेकिन तब तक जेल अधीक्षक मंत्री आवास से गायब हो चुका था। मंत्री के एफआईआर दर्ज कराने के आदेश पर उनके शैडो सौरभ कुमार की ओर से हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी गई। जेल अधीक्षक मंत्री से मिलने क्यों आया था? वह क्या काम करवाना चाहता था? इस बारे में जानकारी नहीं मिल सकी है। पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है।

loading...

You May Also Like

English News