जम्मू एवं कश्मीर : नेकां नेता के आवास पर आतंकी हमला

दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शनिवार सुबह 4.30 बजे के करीब आतंकियों ने पूर्व एमएलसी शौकत अहमद गनई  के मकान पर हमला किया। लेकिन पुलिसकर्मियों की त्वरित कार्रवाई करने पर आतंकी जान बचाते हुए बच निकले। दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शनिवार सुबह 4.30 बजे के करीब आतंकियों ने पूर्व एमएलसी शौकत अहमद गनई  के मकान पर हमला किया। लेकिन पुलिसकर्मियों की त्वरित कार्रवाई करने पर आतंकी जान बचाते हुए बच निकले।    यहां मिली जानकारी के अनुसार, आज सुबह चित्रीगाम, शोपियां स्थित नेकां नेता और पूर्व एमएलसी शौकत अहमद गनई के मकान पर अचानक चार से पांच आतंकियों ने हमला कर दिया। आतंकियों ने अपने स्वचालित हथियारों से फायरिंग करते हुए नेकां नेता के मकान की सुरक्षा के लिए बनी चौकी में दाखिल होने का प्रयास किया। लेकिन वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने तुरंत मोर्चा संभाला और जवाबी फायर किया। करीब आठ से दस मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चली।   गोलियों की आवाज सुनते ही निकटवर्ती शीविरों और चौकियों से सुरक्षाकर्मियों ने तुरंत नेकां नेता के मकान का रुख किया। लेकिन तब तक आतंकी अपने मंसूबे को नाकाम होते देख, जान बचाते हुए वहां से भाग निकले। इस हमले में नेकां नेता, उनके परिजनों या फिर पुलिसकर्मियों को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचा है। फिलहाल, सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए आतंकियों को पकड़ने के लिए एक सघन तलाशी अभियान चला रखा है।    आतंकी हमले में बाल-बाल बचे पीडीपी नेता वहीद उर रहमान यह भी पढ़ें इस बीच, एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकियों का मकसद नेकां नेता के मकान पर तैनात सुरक्षाकर्मियों से उनका हथियार छीनना था। लेकिन सुरक्षाकर्मियों की बहादुरी से आतंकियों को जान बचाकर भागना पड़ा है।

यहां मिली जानकारी के अनुसार, आज सुबह चित्रीगाम, शोपियां स्थित नेकां नेता और पूर्व एमएलसी शौकत अहमद गनई के मकान पर अचानक चार से पांच आतंकियों ने हमला कर दिया। आतंकियों ने अपने स्वचालित हथियारों से फायरिंग करते हुए नेकां नेता के मकान की सुरक्षा के लिए बनी चौकी में दाखिल होने का प्रयास किया। लेकिन वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने तुरंत मोर्चा संभाला और जवाबी फायर किया। करीब आठ से दस मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चली। 

गोलियों की आवाज सुनते ही निकटवर्ती शीविरों और चौकियों से सुरक्षाकर्मियों ने तुरंत नेकां नेता के मकान का रुख किया। लेकिन तब तक आतंकी अपने मंसूबे को नाकाम होते देख, जान बचाते हुए वहां से भाग निकले। इस हमले में नेकां नेता, उनके परिजनों या फिर पुलिसकर्मियों को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचा है। फिलहाल, सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए आतंकियों को पकड़ने के लिए एक सघन तलाशी अभियान चला रखा है। 

इस बीच, एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकियों का मकसद नेकां नेता के मकान पर तैनात सुरक्षाकर्मियों से उनका हथियार छीनना था। लेकिन सुरक्षाकर्मियों की बहादुरी से आतंकियों को जान बचाकर भागना पड़ा है।

You May Also Like

English News