जम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा के जंगलों में एनकाउंटर जारी, एक आतंकी ढेर, AK-47 बरामद

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मंगलवार को शुरू हुई मुठभेड़ तीसरे दिन भी जारी है. उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के कांडी जंगल में चल रहे इस एनकाउंटर में गुरुवार को एक आतंकी मारा गया. पुलिस के सूत्रों के मुताबिक घटनास्थल से एक एके-47 रायफल भी बरामद हुई है.जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मंगलवार को शुरू हुई मुठभेड़ तीसरे दिन भी जारी है. उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के कांडी जंगल में चल रहे इस एनकाउंटर में गुरुवार को एक आतंकी मारा गया. पुलिस के सूत्रों के मुताबिक घटनास्थल से एक एके-47 रायफल भी बरामद हुई है.  बुधवार शाम को सेना की ओर से प्रदर्शनकारियों पर की गई कार्रवाई में एक स्थानीय युवा की भी मौत हो गई. इसके बाद उत्तरी कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा रोक दी गई है और लोगों की आवाजाही पर भी रोक लगाई गई है.  इस एनकाउंटर के चलते इलाके में स्कूल और कॉलेजों को बंद रखा गया है. एनकाउंटर के दौरान इलाके में स्थानीय लोगों का विरोध-प्रदर्शन शुरू न हो जाए, इसलिए एहतियातन ऐसा किया गया है.  आपको बता दें कि मंगलवार शाम को सेना ने छह-सात आतंकियों के एक समूह का पीछा किया था, इसके बाद यह एनकाउंटर शुरू हुआ था. माना जा रहा है कि इन आतंकियों की हाल में ही भर्ती की गई है. फिलहाल ये आतंकी घने जंगलों में घुस गए हैं. ऑपरेशन को खत्म करने के लिए और सैनिकों को भेजा गया है.  बताते चलें कि सुरक्षाबलों की ओर से कुपवाड़ा जिले के कांडी जंगल क्षेत्र में शुरू किए गए एनकाउंटर में बुधवार शाम को एक आर्मी कमांडो शहीद हो गया था, जबकि कई जवान घायल हुए थे.  एक सैन्य अफसर के अनुसार, बुधवार दोपहर कांडी के साडू गंगा जंगल क्षेत्र में भिड़ंत के दौरान सिपाही मुकुल मीना को गोली लग गई जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें वहां से सुरक्षित निकालकर दुर्गमूला में सैन्य अस्पताल पहुंचाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.  उन्होंने बताया कि एक और जवान को गोली लगी है, लेकिन वह खतरे से बाहर है. आतंकियों की तलाश के लिए 47वीं राजपूताना राइफल्स के जवानों और आतंकियों के बीच अभियान मंगलवार दोपहर बाद शुरू किया गया था. कुपवाड़ा के एसएसपी अंबारकर श्रीराम दिनकर ने जवान की मौत की पुष्ट की है.  सैन्य अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को शुरू हुए एनकाउंटर में आतंकी वहां से भागने में कामयाब रहे, हालांकि बुधवार दोपहर बाद सेना की स्पेशल कमांडोज की मदद से उनकी तलाश कर ली गई और उनके पकड़ने का अभियान शुरू कर दिया गया.

बुधवार शाम को सेना की ओर से प्रदर्शनकारियों पर की गई कार्रवाई में एक स्थानीय युवा की भी मौत हो गई. इसके बाद उत्तरी कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा रोक दी गई है और लोगों की आवाजाही पर भी रोक लगाई गई है.

इस एनकाउंटर के चलते इलाके में स्कूल और कॉलेजों को बंद रखा गया है. एनकाउंटर के दौरान इलाके में स्थानीय लोगों का विरोध-प्रदर्शन शुरू न हो जाए, इसलिए एहतियातन ऐसा किया गया है.

आपको बता दें कि मंगलवार शाम को सेना ने छह-सात आतंकियों के एक समूह का पीछा किया था, इसके बाद यह एनकाउंटर शुरू हुआ था. माना जा रहा है कि इन आतंकियों की हाल में ही भर्ती की गई है. फिलहाल ये आतंकी घने जंगलों में घुस गए हैं. ऑपरेशन को खत्म करने के लिए और सैनिकों को भेजा गया है.

बताते चलें कि सुरक्षाबलों की ओर से कुपवाड़ा जिले के कांडी जंगल क्षेत्र में शुरू किए गए एनकाउंटर में बुधवार शाम को एक आर्मी कमांडो शहीद हो गया था, जबकि कई जवान घायल हुए थे.

एक सैन्य अफसर के अनुसार, बुधवार दोपहर कांडी के साडू गंगा जंगल क्षेत्र में भिड़ंत के दौरान सिपाही मुकुल मीना को गोली लग गई जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें वहां से सुरक्षित निकालकर दुर्गमूला में सैन्य अस्पताल पहुंचाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

उन्होंने बताया कि एक और जवान को गोली लगी है, लेकिन वह खतरे से बाहर है. आतंकियों की तलाश के लिए 47वीं राजपूताना राइफल्स के जवानों और आतंकियों के बीच अभियान मंगलवार दोपहर बाद शुरू किया गया था. कुपवाड़ा के एसएसपी अंबारकर श्रीराम दिनकर ने जवान की मौत की पुष्ट की है.

सैन्य अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को शुरू हुए एनकाउंटर में आतंकी वहां से भागने में कामयाब रहे, हालांकि बुधवार दोपहर बाद सेना की स्पेशल कमांडोज की मदद से उनकी तलाश कर ली गई और उनके पकड़ने का अभियान शुरू कर दिया गया.

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com