जानिए किस-किस मामले में पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम के बेटे पर लटकी है तलवार ​

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया केस मामले में कोई राहत मिलती नहीं दिख रही है। मामले में मंगलवार (2 जनवरी) को जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एक बार‌ फिर पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को नोटिस भेज दिया है। ईडी ने कार्ति को 11 जनवरी को पूछताछ के लिए ऑफिस में पेश होने के लिए कहा है।जानिए किस-किस मामले में पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम के बेटे पर लटकी है तलवार ​

आपको बता दें कि इससे पहले भी ईडी कार्ति को कई बार समन कर आईएनएक्स मीडिया मामले में पूछताछ के लिए तलब कर चुकी है। कार्ति चिदंबरम पर केवल आईएनएक्स मीडिया मामले में ही तलवार नहीं लटक रही है बल्कि वो एयरसेल मैक्सिस केस मामले में भी फंसे हुए हैं। 

आईएनएक्स मीडिया केस:

2007 में वित्त मंत्री पी चिदंबरम के कार्यकाल में आईएनएक्स मीडिया को विदेश से 305 करोड़ रुपये स्वीकार करने के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की ओर से दी गई मंजूरी में कथित अनियमितताओं का आरोप लगाया गया था। इस मामले में कार्ति चिदंबरम के खिलाफ ईडी और सीबीआई दोनों जांच एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं।

कार्ति पर प्रमुख आरोप ये है कि पिता के वित्तमंत्री रहते हुए उन्होंने इसका फायदा उठाकर कई कंपनियों को अनुचित लाभ पहुंचाया। उन्हीं में से एक मामला आईएनएक्स मीडिया का भी है, जिसकी सर्वेसवा बेटी की हत्या के आरोप में जेल में बंद इंद्राणी मुखर्जी रह चुकी हैं।

जानिए क्या है एयरसेल-मैक्सिस मामला:

सीबीआई द्वारा विशेष अदालत में दाखिल चार्जशीट के अनुसार, मैक्सिस की सहायक कंपनी ग्लोबल कम्यूनिकेशन सर्विसेज होल्डिंग्स लिमिटेड ने एयरसेल में 800 मिलियन डॉलर के निवेश के लिए मंजूरी मांगी थी।

आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी इस मामले में अनुमति के लिए सक्षम थी। हालांकि तत्कालीन वित्त मंत्री चिदंबरम द्वारा इस संबंध में अनुमोदन प्रदान किया गया था। इस संबंध में आगे की जांच जारी है। इस मामले में कार्ति के शामिल होने का आरोप है।

You May Also Like

English News