जानिए कैसे ? खत्म हो जायेगा मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक

लखनऊ : यूपी विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद केन्द्र सरकार मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक के मुद्दे पर बड़ा फैसला ले सकती है। इस बात के संकेत विधि, न्याय और सूचना प्रौद्योगिकी  मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दिये हैं। उनका कहना है कि दुनिया के 20 इस्लामिक देशों ने तीन तलाक को नियंत्रित किया है। अगर वहां इसे नियंत्रित किया जा सकता है तो हिदुस्तान में इसे शरीयत के खिलाफ कैसे माना जाए।

रविशंकर रविवार को लखनऊ में पार्टी मुख्यालय पर प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहना कि केंद्र सरकार समाज की कुरीतियों को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तीन तलाक का मामला धर्म से नहीं महिलाओं के सम्मान से जुड़ा हुआ है।

सरकार आस्था का सम्मान करती है, लेकिन इबादत और सामाजिक बुराई एक साथ नहीं रह सकती। शनिवार को गाजियाबाद में भी रविशंकर ने कहा था कि केंद्र सरकार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद तीन तलाक पर बड़ा फैसला ले सकती है। प्रसाद ने कहा भाजपा ही ऐसी पार्टी है जो महिलाओं का सम्मान करती है।

सरकार तीन तलाक का मामला तीन बिंदुओं न्याय, समानता और सम्मानद्ध को लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी उठाएगी। केंद्र सरकार उप्र विधानसभा चुनावों के बाद तीन तलाक बंद करने की दिशा में बड़ा कदम उठा सकती है। केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि यह परंपरा महिलाओं के सम्मान के खिलाफ है और इस पर प्रतिबंध लगाए जाने की जरूरत है।

बता दें कि घोषणा पत्र में भाजपा ने तीन तलाक के मुद्दे पर प्रदेश की मुस्लिम महिलाओं से राय लेकर सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखने का वादा किया है। केन्द्रीय मंत्रर ने अखिलेश, राहुल और मायावती पर भी जमकर हमला बोला। साथ ही तीन तलाक के मुद्दे पर राहुल गांधी, अखिलेश यादव और मायावती को अपना पक्ष स्पष्ट करने की चुनौती दी है।

तीन तलाक के मुद्दे को लेकर कई मुस्लिम संगठन केन्द्र सरकार की मंशा पर सवाल उठा चुके हैं। उनका आरोप है कि भाजपा सरकार इस्लामिक शरियत में दखल दे रही है जो किसी भी हाल में बर्दाशत नहीं किया जायेगा।

You May Also Like

English News