जानिए कैसे रातों-रात चमकी इस भिखारी की किस्मत

किसी भी इंसान की जिंदगी में किस्मत का काफी बड़ा रोल होता है. इंसान कितना ही बुद्धिमान हो, कितना ही पैसों वाला क्यों न हो, जब तक उसकी किस्मत का सिक्का नहीं चलता वह कुछ हासिल नहीं कर सकता. और कहा ये भी जाता है कि वक़्त से पहले और किस्मत से ज्यादा न कभी किसी को मिला है न मिलेगा. अगर किस्मत का साथ होती तो बीरबल राजा बनकर ऐश कर रहा होता. किस्मत जिसका साथ दे जाती है उसकी लाइफ ही बदल जाती है, इस भिखारी की ही कहानी पढ़ लीजिए. ये ऐसा मामला है, जिसे पढ़कर आपको हंसी भी आएगी और हैरानी भी होगी. 

मामला उत्तराखंड के हरिद्वार के रानीपुर कोतवाली क्षेत्र का है, जहाँ रातों रात एक भिखारी की किस्मत चमक गई और एक शख्स की जिंदगी बर्बाद हो गई. रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां रहने वाले एक पिता और बेटा इन दिनों हर तरफ एक भिखारी को ढूंढ रहे हैं. दरअसल, अपने पिता को बिना बताए इस बेटे ने वो फटा हुआ गद्दा मंदिर के बाहर बैठे एक भिखारी को दिया था. पिता के पूछे जाने पर बेटे ने बताया कि उसने वह गद्दा एक भिखारी को दान में दे दिया है. ये सुनते ही पिता ने बेटे को डांटना शुरू कर दिया.

दरअसल, पिता ने अपनी सारी सेविंग उस गद्दे के अंदर छिपा रखी थी. जिसमे 40 लाख रुपए रखे हुए थे. खबर है कि इस घटना के तीसरे दिन बाप बेटे ने मंदिर के बाहर उस भिखारी को ढूंढ निकाला, लेकिन यहां किस्मत ने एक और बार लटी खाई और उस भिखारी ने चंद रुपयों में वो गद्दा किसी और भिखारी को बेच दिया था. जब इस खबर के बारे में कनखल थाने में पता किया गया तो वहां के इंस्पेक्टर ने बताया कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं है. लेकिन जरा भिखारी के बारे में सोचिए, उसकी किस्मत कैसे रातोंरात बदल गई.

You May Also Like

English News