जानिए क्यों प्रियंका गांधी को नहीं मिल सकी एसी फस्र्ट क्लास में जगहा?

लखनऊ: कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा को रेल मंत्री भी ट्रेन में एसी फस्र्ट क्लास में बर्थ नहीं दिला सके। प्रियंका को देहरादून-नई दिल्ली एसी एक्सप्रेस के एसी सेकेंड क्लास में शनिवार रात सफर करना पड़ा।


रेलमंत्री कार्यालय से मुरादाबाद रेल मंडल प्रशासन को आदेश दिया गया कि प्रियंका गांधी देहरादून से नई दिलली जाने वाली 12206 एसी एक्सप्रेस के एसी फस्र्ट में सफर करेंगी। उनका टिकट वेटिंग में है। उन्हें वीआइपी कोटे में बर्थ उपलब्ध कराई जाए। प्रियंका के लिए चार बर्थ उपलब्ध कराने के आदेश दिए गये जबकि इसी ट्रेन में सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति ने भी एसी फस्र्ट में चार बर्थ वीआइपी कोटे में मांगी थीं।

मंडल रेल प्रशासन के पास एसी फस्र्ट में चार बर्थ ही वीआइपी कोटे में हैं। रेलवे के नियमानुसार न्यायमूर्ति को सबसे पहले वीआइपी कोटे में बर्थ उपलब्ध कराई जाती है। दिल्ली तक के रेल अधिकारी बिना नियम तोड़े मामले को निपटने के प्रयास में जुट गए।

आखिर में प्रियंका गांधी को समझाकर एसी सेकंड में वीआइपी कोटे में बर्थ उपलब्ध कराई गई। वह नई दिल्ली के लिए रवाना हुईं। अपर मंडल रेल प्रबंधक संजीव मिश्र ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति को वरीयता देने के कारण प्रियंका गांधी को एसी फस्र्ट में बर्थ नहीं मिल पाई। इसके स्थान पर एसी सेकंड में बर्थ उपलब्ध कराई गई।

 

You May Also Like

English News