जानिए? शराब से जुड़े कुछ ऐसे झूठ, जिन्हें हर कोई मानता है सच

अगर आप शराब पीने के शौकीन हैं तो आप ने जरुर सुना होगा कि पुरानी शराब Taste में सबसे बेहतर होती है। मगर यह बात एक साफ झूंठ है, जिसे हम सभी पुराने समय से मानते आ रहे हैं।  इसी तरह से कई अनेको झूंठ और भी हैं जो शराब पीने से संबन्‍धित हैं। अगर आप शराब को सही ढंग और पूरी जिम्‍मेदारी के साथ पीना चाहते हैं, तो आझ हम आपको बताएंगे इससे जुड़े Myths। स्कॉच व्हिस्की को सीधे पिया जाता है।

104 करोड़ पर मायावती की सफाई- पार्टी का पैसा है, क्या फेंक दूं!

अपने आपको मर्द कहलाना पसंद करने वाले कुछ लोगों ने यह बेहूदा ज्ञान फैलाया हुआ है कि Whisky को सीधे बोतल से ही पीना चाहिए। लेकिन यह सच नहीं है, स्कॉच को जापान में सोडा के साथ और ब्राज़ील में नारियल पानी के साथ लिया जाता है, चीनी लोग तो इसे ग्रीन टी में भी मिला लेते हैं। तो बोतल खोलो और स्कॉच व्हिस्की को जिसमें मन चाहे मिलाओ और पियो।

शराब गहरी रंग वाली शराब ज्‍यादा स्‍वास्‍थवर्धक हालांकि गहरी रंग की शराब में ज्यादा एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं लेकिन ऐसा हो सकता है कि इनमें कंजेनेर्स (बनाते समय विषैले पदार्थ पैदा हो जाना) भी हो सकते हैं| इनसे आपका खुमार खराब हो सकता है (यह बियर, वाइन, रम, व्हिस्की, गोल्ड टकीला, और किसी भी डार्क ड्रिंक पर लागू है)। यदि आप ड्रिंक के अगले दिन सुस्ती नहीं चाहते हैं तो आप डार्क ड्रिंक की बजाय लाइट वर्जन वाली ड्रिंक ले सकते हैं। 

मोदी की नीति आयोग के साथ बैठक आज, नोटबंदी पर करेंगे समीक्षा

पुरानी शराब बेहतर होती है यह शराब के प्रकार पर निर्भर है। कुछ शराब ऐसी होती हैं जिन्हें बनाने के एक साल तक पी सकते हैं लेकिन यह समय के साथ ज्यादा बेहतर नहीं होती है, जब कि कुछ तरह की शराब होती हैं जिन्हें कुछ सालों के लिए कोल्ड स्टोरेज में रखना होता है तब जाकर वह बेहतर बन पाती है। अपनी एक्सपायरी डेट से पुरानी शराब कभी समय के साथ अच्छी नहीं हो सकती है। सच्चाई तो यह है कि वाइन के एंटी-ऑक्सीडेंट्स समय के साथ कम ही होते हैं। 

 लाइट बियर के बजाय डार्क बियर में ज्यादा एल्कोहल होता है कुछ लाइट कलर वाली बीयर्स लाइट होती हैं लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि रंग से ही बियर के एल्कोहल और कैलोरी की पहचान हो। बियर का कलर इस बात पर निर्भर करता है कि वह किस चीज से बनी है। स्टाउट जैसी कुछ डार्क बीयर्स में एल्कोहल और कैलोरी दोनों कम होती हैं। बियर के वास्तविक फ्लेवर और इसके एल्कोहल की जानकारी के लिए बार टेंडर या बियर डिस्ट्रीब्यूटर से पूछ लें।
 
सब वोडका एक जैसे होते हैं अधिकतर एल्कोहल ड्रिंक्स एक जैसे तरीके से ही बनते हैं लेकिन वोडका एक ऐसा ड्रिंक है जो कि अलग-अलग तरह से बनता है, यह निर्भर करता है कि हम कहाँ से वोडका आयात कर रहे हैं। एक सामान्य नियम के अनुसार पूर्वी यूरोप में निर्मित वोडका ज्यादा स्ट्रांग होता है बजाय की अन्य देशों के। यदि आप कोई नया ब्रांड ट्राय कर रहे हैं तो पहले देख लें कि यह वोडका किस देश में बना है। 
 अच्‍छा एल्कोहल को एनर्जी ड्रिंक में मिलाने से ज्यादा नशा होता है 
कुछ लोग इसलिए कैफीन वाले एनर्जी ड्रिंक्स में शराब मिलाकर पीते हैं कि इससे वे टल्ली भी हो जाएंगे और होशो हवास में भी रहेंगे। लेकिन वास्तव में ऐसा किसी भी रिसर्च से स्पष्ट नहीं हुआ है कि इन दोनों को एक साथ लेने से आपको नशा भी हो जाए और होश में भी बने रहो। ये दोनों ड्रिंक्स अलग-अलग तरह के हैं इसलिए इन्हें आपस में मिलाकर लेना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है।

You May Also Like

English News