बड़ी खबर: गुरमेहर ने बीच में छोड़ा अभियान, वापस लौटी जालंधर

नई दिल्ली: रामजस कॉलेज में बुधवार को हुई हिंसा को लेकर बवाल जारी है। इसी विवाद को लेकर लगातार चर्चा में बनी दिल्ली विश्वविद्यालय की लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा तथा करगिल शहीद की बेटी गुरमेहर कौर ने दुष्कर्म की धमकियां मिलने और पूरे मामले में विवाद बढ़ने के बाद अपने कैंपेन से खुद को अलग कर लिया है।

जाने किस कारण टूट गुरमेहर कौर का दिल, खुद को...

अभी-अभी: रानीखेत एक्सप्रेस का हुआ ब्रेक फेल, चलती ट्रेन में मचा हडकंप

दिल्ली के रामजस कॉलेज में दक्षिणपंथी और वामपंथी विचारधारा वाले छात्र गुटों के बीच हुई झड़प के बाद गुरमेहर अचानक चर्चा में आ गई थीं।

आपकी भी पत्नी के पास है स्मार्टफोन तो हो जाएं सावधान

गुरमेहर ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया,”मैं इस कैम्पेन से खुद को अलग कर रही हूं। हर किसी को शुभकामनाएं। मैं गुज़ारिश करती हूं कि मुझे अकेला छोड़ दो। मुझे जो कहना था, कह चुकी हूं।” गुरमेहर ने यह भी कहा कि पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग के ट्वीट के बाद उनका दिल टूट गया है।

उन्होंने आगे कहा, “मैं काफी कुछ झेल चुकी हूं। और 20 साल की उमर में इससे ज्यादा नहीं झेल सकती। ये अभियान छात्रों को लेकर था, मेरे बारे में नहीं। जो लोग मेरी बहादुरी और साहस पर सवाल उठा रहे हैं….(उनसे कहना चाहती हूँ) मैंने ज़रूरत से ज़्यादा ही साबित कर दिया है।”

हालांकि कैंपेन से खुद को अलग करने के बाद गुरमेहर ने दूसरों को इसे जारी रखने के लिए कहा है। उसने ट्वीट करने हुए लिखा है कि यह कैंपेन मेरे लिए नहीं बल्कि स्टूडेंट्स के लिए है। कृपया इस मार्च में बड़ी संख्या में शामिल हों। सभी को शुभकामनाएं।

बता दें कि राजमस कॉलेज में हुए विवाद के बाद गुरमेहर ने सोशल मीडिया पर एबीवीपी के खिलाफ कैंपेन शुरू किया था। इसके बाद उसे सोशल मीडिया पर ही दुष्कर्म की धमकियां मिलने लगी थीं। गुरमेहर कौर ने आरोप लगाया था कि उसे इस छात्र संगठन के सदस्यों से दुष्कर्म की धमकी मिली है। उसने इसकी शिकायत दिल्ली महिला आयोग से भी की थी। इसके बाद गुरमेहर को सुरक्षा मुहैया कराई गई।

loading...

You May Also Like

English News