जापान को 3-2 से हराकर बेल्जियम क्वार्टर फाइनल में

फीफा फुटबॉल विश्व कप 2018 के नॉकआउट राउंड में जापान का मुकाबला बेल्जियम के साथ हुआ। इस बेहद रोमांचक मुकाबले में बेल्जियम ने जापान को 3-2 से हराकर पहली बार विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का सपना तोड़ दिया। विश्व कप में ये तीसरा मौका है जब बेल्जियम ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है। 1970 के बाद विश्‍वकप में यह पहला मौका है जब नॉकआउट दौर में किसी टीम ने दो गोल से पिछड़ने के बाद वापसी कर मैच जीता। अब बेल्जियम का क्‍वार्टर फाइनल में मुकाबला पांच बार की चैंपियन ब्राजील से होगा।फीफा फुटबॉल विश्व कप 2018 के नॉकआउट राउंड में जापान का मुकाबला बेल्जियम के साथ हुआ। इस बेहद रोमांचक मुकाबले में बेल्जियम ने जापान को 3-2 से हराकर पहली बार विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का सपना तोड़ दिया। विश्व कप में ये तीसरा मौका है जब बेल्जियम ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है। 1970 के बाद विश्‍वकप में यह पहला मौका है जब नॉकआउट दौर में किसी टीम ने दो गोल से पिछड़ने के बाद वापसी कर मैच जीता। अब बेल्जियम का क्‍वार्टर फाइनल में मुकाबला पांच बार की चैंपियन ब्राजील से होगा।  पहले हाफ के खेल में दोनों ही टीमों ने आक्रामक खेल दिखाया लेकिन गोल करने में सफल नहीं रही। 45 मिनट के खेल में जापान के डिफेंडरों ने गजब का खेल दिखाते हुए बेल्जियम के आक्रमण को सफल नहीं होने दिया। पहले हाफ के 24वें मिनट में बेल्जियम के रोमेलू को गोल के ठीक सामने गेंद मिली और उनके पास शानदार मौका था लेकिन वो जापान के गोलकीपर को छका नहीं पाए और इस बेहतरीन मौके को गवां दिया।  30वें मिनट में जापान के खिलाड़ियों ने मिलकर एक शानदार मौका गोल करने का बनाया लेकिन बेल्जियम के गोलकीपर थिबॉट कटरेआ ने उनके हमले को नाकाम कर दिया। पहले हाफ में बेल्जियम ने गोल के ज्यादा मौके बनाए लेकिन जापान की तरफ से भी गोल करने की काफी कोशिश की गई। खेल के 40वें मिनट में जापान के गाकू को यलो कार्ड दिखाया गया। पहले हाफ में बेल्जियम ने पांच कार्नर हासिल किए जबकि जापान को एक भी कार्नर नहीं मिला।  दूसरा हाफ जापान के लिए कमाल का साबित हुआ। दूसरे हाफ का खेल शुरू होते ही जापान के हारागुची ने 48वें मिनट में गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा दिया और अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। इसके तुरंत बाद ही 52वें मिनट में ही ताकाशी इनई ने अपनी टीम के लिए दूसरा गोल कर मजबूत बेल्जियम को चौंका दिया। इस गोल के साथ जापान ने बेल्जियम पर 2-0 की मजबूत बढ़त हासिल कर ली।  बेल्जियम ने इसके बाद लगातार अपना हमला जारी रखा और आखिरकार उसे खेल के 69वें मिनट में सफलता मिली। जन वर्टोगन ने हेडर से गोल दागकर स्कोर को 1-2 पर पहुंचा दिया। इस गोल के पांच मिनट बाद ही बेल्जियम के सब्सिट्यूट खिलाड़ी फेलेनी ने अपनी टीम के लिए 74वें मिनट में गोल दागकर स्कोर को 2-2 से बराबर कर दिया। 90 मिनट का खेल खत्म होने तक दोनों टीमों का स्कोर 2-2 की बराबरी पर रहा। इसके बाद 4 मिनट के इंजुरी टाइम का खेल शुरू हुआ और इसके आखिरी वक्त में बेल्जियम के नासेर शेडली ने गोल कर अपनी टीम को जीत दिला दी। चेडली न ये गोल 90 प्लस चार मिनट में किया।

पहले हाफ के खेल में दोनों ही टीमों ने आक्रामक खेल दिखाया लेकिन गोल करने में सफल नहीं रही। 45 मिनट के खेल में जापान के डिफेंडरों ने गजब का खेल दिखाते हुए बेल्जियम के आक्रमण को सफल नहीं होने दिया। पहले हाफ के 24वें मिनट में बेल्जियम के रोमेलू को गोल के ठीक सामने गेंद मिली और उनके पास शानदार मौका था लेकिन वो जापान के गोलकीपर को छका नहीं पाए और इस बेहतरीन मौके को गवां दिया।

30वें मिनट में जापान के खिलाड़ियों ने मिलकर एक शानदार मौका गोल करने का बनाया लेकिन बेल्जियम के गोलकीपर थिबॉट कटरेआ ने उनके हमले को नाकाम कर दिया। पहले हाफ में बेल्जियम ने गोल के ज्यादा मौके बनाए लेकिन जापान की तरफ से भी गोल करने की काफी कोशिश की गई। खेल के 40वें मिनट में जापान के गाकू को यलो कार्ड दिखाया गया। पहले हाफ में बेल्जियम ने पांच कार्नर हासिल किए जबकि जापान को एक भी कार्नर नहीं मिला।

दूसरा हाफ जापान के लिए कमाल का साबित हुआ। दूसरे हाफ का खेल शुरू होते ही जापान के हारागुची ने 48वें मिनट में गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा दिया और अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। इसके तुरंत बाद ही 52वें मिनट में ही ताकाशी इनई ने अपनी टीम के लिए दूसरा गोल कर मजबूत बेल्जियम को चौंका दिया। इस गोल के साथ जापान ने बेल्जियम पर 2-0 की मजबूत बढ़त हासिल कर ली।

बेल्जियम ने इसके बाद लगातार अपना हमला जारी रखा और आखिरकार उसे खेल के 69वें मिनट में सफलता मिली। जन वर्टोगन ने हेडर से गोल दागकर स्कोर को 1-2 पर पहुंचा दिया। इस गोल के पांच मिनट बाद ही बेल्जियम के सब्सिट्यूट खिलाड़ी फेलेनी ने अपनी टीम के लिए 74वें मिनट में गोल दागकर स्कोर को 2-2 से बराबर कर दिया। 90 मिनट का खेल खत्म होने तक दोनों टीमों का स्कोर 2-2 की बराबरी पर रहा। इसके बाद 4 मिनट के इंजुरी टाइम का खेल शुरू हुआ और इसके आखिरी वक्त में बेल्जियम के नासेर शेडली ने गोल कर अपनी टीम को जीत दिला दी। चेडली न ये गोल 90 प्लस चार मिनट में किया।

You May Also Like

English News