जिनके घर के पास तालाब या फव्वारा है तो वो होते हैं बड़े ही खुशकिस्मत

हमारे हिन्दू धर्म में ऐसे बहुत से शास्त्र है जो मानव के जीवन को खुशहाल बनाने के लिए काफी उपयुक्त है, लेकिन क्या आप जानते हैं जैसे भारत मे यह शास्त्र हैं वैसे ही चीनी का भी एक शास्त्र है, जिसका प्रयोग आमतौर पर भारत में भी किया जाता हैं जैसे भारत में वास्तुशास्त्र के द्वारा मानव जीवन की तमाम परेशानीयों का अंत किया जाता है तो वैसे ही चीनी शास्त्र फेंगशुई में भी मानव जीवन से जुड़ी कई समस्याओं को बड़ी ही सुन्दरता और असानी से सुलझाया जा सकता है। आज हम आपसे चीनी शास़्त्र फेंगशुई के बारे में ही बात करने वाले हैं। आज के समय मे भारत में भी फेंगशुई का काफी हद तक चलन देखने को मिलता है। फेंगशुई हमें बहुत सी परेशानी को हल करने के आसान से टिप्स को दर्शाता है तो चलिए देखते हैं कि घर में बड़े ही असान तरीके सुख-समृध्दि को कैसे लाया जाए?जिनके घर के पास तालाब या फव्वारा है तो वो होते हैं बड़े ही खुशकिस्मत

घर के पूर्वोत्तर कोण में तालाब या फव्वारा शुभ होता है। फेंगशुई के अनुसार, इसके पानी का बहाव घर की ओर होना चाहिए न कि बाहर की ओर।

फेंगशुई में बांस के पौधे सुख-समृद्धि का प्रतीक माने गए हैं। इनसे परिवार के सदस्यों को पूर्ण आयु व अच्छी सेहत मिलती है। घर की बैठक में

जहां घर के सदस्य आमतौर पर एकत्र होते हैं, वहां बांस का पौधा लगाना चाहिए। पौधे को बैठक के पूर्वी कोने में रखें।

फेंगशुई के अनुसार, घर की रक्षा ड्रैगन करता है। इसलिए घर में ड्रैगन की मूर्ति या चित्र रखना चाहिए।

You May Also Like

English News