जींद में ‘निर्भया’ से दरिंदगी मामले में संदिग्ध युवक की लाश मिली, 9 जनवरी से था लापता

कुरुक्षेत्र से छात्रा को अगवा करके जींद में उसके साथ दिल्ली की निर्भया जैसी दरिंदगी मामले में संदिग्ध युवक की लाश मिली है। वह भी 9 जनवरी से लापता था। झांसा निवासी 12वीं के छात्र गुलशन उर्फ हैप्पी की लाश पुलिस ने भाखड़ा नहर के बटेडा हेड से बरामद की है।जींद में 'निर्भया' से दरिंदगी मामले में संदिग्ध युवक की लाश मिली, 9 जनवरी से था लापता परिजनों से पहचान करवाने के बाद पुलिस ने शव लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया। गुलशल उसी लड़की के स्कूल में पढ़ता था, जिसका शव 12 जनवरी को जींद में मिला था। बता दें कि 9 जनवरी को लापता हुए गुलशन की गुमशुदगी की रिपोर्ट अभी तक परिजनों ने दर्ज नहीं कराई थी।
इस कारण पुलिस लड़की की लाश मिलने के बाद गुलशन को इस वारदात में शामिल होने की आशंका से उसके कई दोस्तों को राउंड अप कर जांच में जुटी थी। कुरुक्षेत्र पुलिस ने कुछ घंटे पहले ही गुलशन के चचेरे भाई प्रिंस को हिमाचल के बद्दी क्षेत्र से हिरासत में लिया था। मामले में एसआईटी टीम गठित करने के अलावा पुलिस अधीक्षक अभिषेक गर्ग ने 10 टीमें जांच के लिए लगाई हैं।

गुलशन का शव मिलने से उलझ गया मामला

मंगलवार देर रात गुलशन की लाश बरामद होने के बाद अब यह मामला और उलझ गया है। पुलिस मामले को ऑनर किलिंग से जोड़कर भी देख रही है। झांसा थाना एसएचओ दलीप सिंह ने गुलशन का शव मिलने की पुष्टि की है।

सीसीटीवी में 4.20 बजे जाते दिखे
पुलिस को ऐसी सीसीटीवी फुटेज मिली है, जिसमें गुलशन के पास एक बाइक पर सवार दो युवक आकर रुकते हैं। हाथ मिलाने के बाद गुलशन इनके साथ बाइक पर जाता हुआ दिखाई देता है। हालांकि इसके बाद यह तीनों कहां गए इसकी जांच जारी है।

सीसीटीवी में दिखी छात्रा भी
जींस और कोट पहने एक युवती सीसीटीवी फुटेज में दिख रही है। सूत्रों की मानें तो यह वही लड़की है, जिसका शव 12 जनवरी 2018 को जींद के बुढाखेड़ा के निकट फेंका था। फेंका गया इसलिए बताया जा रहा है कि जींद में जहां लाश मिली थी, उस जगह का मालिक 2.00 बजे तक वहीं था। 4.30 बजे उसे सूचना मिली कि उसकी जमीन में किसी की लाश पड़ी है।

नहर के पास मिली थी लड़की की लाश

जींद जिले के डीएसपी कप्तान सिंह ने बताया कि 13 जनवरी की सुबह एक लड़की का शव मिला। वह 10वीं की छात्रा था और कुरुक्षेत्र के ईस्माइलाबाद के गांव की रहने वाली थी। उसे 10 जनवरी को अगवा किया ​था और गैंगरेप के बाद मारकर जींद में फेंक दिया गया।

इतना ही नहीं, उसके साथ दिल्ली की ‘निर्भया’ जैसी दरिंदगी की गई थी। उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड घुसा दी गई थी, जिससे उसकी लीवर फट गया और मौत हो गई। शव का पोस्टमार्टम रोहतक पीजीआई में मेडिकल बोर्ड ने किया।

डॉ. एसके धत्तरवाल ने बताया कि पोस्टमार्टम में लड़की के शरीर पर 19 चोटें मिली हैं। हालांकि, डॉक्टर ने लड़की की मौत के असली कारणों को साफ नहीं किया, लेकिन आशंका जताई है कि उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म और कुकर्म किया गया। जननांग में कोई मजबूत व नुकीली चीज डालकर उसके शरीर के भीतरी अंगों को फाड़ दिया गया है। 

You May Also Like

English News