जीनियस धोनी की पैनी नजर ने बुमराह को आउट होने से बचाया

धर्मशाला वनडे में एक छोर संभालकर बल्लेबाजी करने वाले टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पैनी नजर ने एक बार फिर कमाल कर दिया. दरअसल, भारतीय पारी के 33वें ओवर में जसप्रीत बुमराह, श्रीलंकाई गेंदबाज सचित पाथिराना का सामना कर रहे थे. तभी उस ओवर की आखिरी गेंद पर गेंदबाज पाथिराना ने एलबीडब्लू की जोरदार अपील की और अंपायर ने बुमराह को आउट करार दिया.जीनियस धोनी की पैनी नजर ने बुमराह को आउट होने से बचाया

राहुल की ताजपोशी पर आज लगेगी मुहर, 16 दिसंबर को राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में संभालेंगे कार्यभार

लेकिन धोनी की पारखी नजर की प्रशंसा करनी होगी. उन्होंने पल भर भी जाया किए बिना बुमराह को रिव्यू लेने के लिए कहा. बुमराह को डीआरएस का लाभ मिला और वह आउट होने से बच गए. धोनी को सौ फीसदी यकीन था कि बुमराह नॉट आउट हैं. रिप्ले में यह साफ हो गया कि गेंद ऑफ स्टंप के बाहर पिच हुआ है. आखिरकार अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा.

विराट कोहली भी धोनी को मैदान पर सबसे समझदार क्रिकेटर का खिताब दे चुके हैं. कोहली ने एक बार कहा था कि फील्ड में धोनी सबसे समझदार क्रिकेटर हैं. खासकर डीआरएस मसले पर. डीआरएस मामले में धोनी की 95 प्रतिशत अपील सफल साबित हुई हैं.

धोनी ने मुश्किल पिच पर की शानदार बल्लेबाजी 

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी ने मुश्किल हालात में बेहद महत्तवपूर्ण पारी खेली. धोनी ने अपने वनडे करियर का 67वां अर्धशतक लगाया. धोनी ने 87 गेंदों में 65 रनों की पारी खेली, जिसमें 10 चौके 2 छक्के शामिल थे. जिस वक्त धोनी बल्लेबाजी के लिए उतरे उस वक्त भारत का स्कोर 16 रन पर 4 विकेट था. एमएस धोनी ने एक छोर संभालकर टीम इंडिया को 100 रन के पार पहुंचाया.

लेकिन मैच नहीं जीत सका भारत

बता दें कि श्रीलंकाई टीम ने भारत को धर्मशाला वनडे में 7 विकेट से हराकर तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. नियमित कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया का प्रदर्शन बेहद खराब रहा. इस मुकाबले में टीम इंडिया के बल्लेबाज से लेकर गेंदबाज सभी बुरी तरह नाकाम रहे हैं. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया 112 रन बनाकर ऑलआउट हो गई. 113 रनों के आसान से लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका ने 20.4 ओवर में ही 3 विकेट गंवा कर 114 रन बना लिए और ये मैच 7 विकेट से जीत लिया.

श्रीलंका की ओर से उपुल थरंगा ने सबसे ज्यादा 49 रन बनाए. वहीं, निरोशन डिकवेला ने 26 रनों की पारी खेली. टीम इंडिया के लिए भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पंड्या को 1-1 विकेट मिला. सुरंगा लकमल को उनकी धारदार गेंदबाजी के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ के अवॉर्ड से नवाजा गया. लकमल ने मैच में 4 विकेट लेकर भारतीय बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी थी.

You May Also Like

English News