जूनियर शूटरों को 2 गोल्ड, गुरप्रीत ने सीनियर में दिलाया सिल्वर

आईएसएसएफ विश्व चैंपियनशिप की सीनियर पुरुष स्टैंडर्ड पिस्टल स्पर्धा में गुरप्रीत सिंह ने रजत पदक अपने नाम किया. इसी चैंपियनशिप में भारत के जूनियर निशानेबाजों ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए दो गोल्ड मेडल जीते.

शुक्रवार को सोलह साल के विजयवीर सिद्धू ने जूनियर पुरुषों की 25 मीटर स्टैंडर्ड पिस्टल स्पर्धा में राजकंवर सिंह संधू और आदर्श सिंह के साथ मिलकर टीम का स्वर्ण पदक हासिल किया.

भारत 11 स्वर्ण, 9 रजत और 7 कांस्य से कुल 27 पदकों के साथ पदक तालिका में तीसरे स्थान पर बना हुआ है, जो उसका इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.

गुरुवार को 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में चौथे स्थान पर रहने वाले विजयवीर ने 572 का स्कोर बनाया, जिससे वह कोरिया के ली गुनहेयोक (570) और चीन के हाओजी जू (565) से आगे रहे.

टीम स्पर्धा में विजयवीर ने अपने साथी निशानेबाजों के साथ मिलकर कुल 1695 अंक जुटाए, जिससे भारत शीर्ष स्थान हासिल करने में सफल रहा. कोरिया 1693 और चेक गणराज्य 1674 अंक से क्रमश: रजत और कांस्य पदक जीतने में कामयाब रहा. आदर्श व्यक्तिगत स्पर्धा में चौथे स्थान पर रहे.

सीनियर प्रतिस्पर्धा में गुरप्रीत सिंह ने सुनिश्चित किया कि उनके रजत से दल सकारात्मक तरीके से टूर्नामेंट का अंत करे. राष्ट्रमंडल खेलों के पूर्व स्वर्ण पदकधारी गुरप्रीत ने 579 का स्कोर बनाया, जिससे वह यूक्रेन के पावलो कोरोस्टाइलोव से पीछे दूसरे स्थान पर रहे, जिन्होंने 581 अंक जोड़े. कांस्य पदक कोरिया के किम जुनहोंग ने हासिल किया.

लेकिन भारत टीम स्पर्धा में चौथे स्थान पर रहा, जिसमें गुरप्रीत, अमनप्रीत सिंह (560) और लंदन ओलंपिक रजत पदकधारी विजय कुमार (560) ने मिलकर 1699 अंक का स्कोर बनाया. भारतीय जूनियर महिला स्कीट टीम चौथे स्थान पर रही. सिमरनप्रीत कौर, परिनाज धालीवाल और अरीबा खान ने कुल 318 अंक बनाए. कोई भी निशानेबाज व्यक्तिगत स्पर्धा में फाइनल के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकी.

देश ने टोक्यो 2020 खेलों की पहली क्वालिफाइंग स्पर्धा से दो ओलंपिक कोटा स्थान भी हासिल किए. अंजुम मौदगिल और अपूर्वी चंदेला ने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में क्रमश: रजत पदक जीतकर और चौथा स्थान हासिल कर ओलंपिक के लिए कोटा स्थान हासिल किया था.

You May Also Like

English News