जेठानी से झगड़ा हुआ तो खुला बड़ा राज, मुसीबत में फंसी कनाडा में रह रही देवरानी

गांव गोखूवाल की एक महिला ने पति के साथ कनाडा जाने के लिए जेठानी की दसवीं के सर्टिफिकेट पर पासपोर्ट बनवा लिया। वह कनाडा में प‍ति के साथ करीब 10 साल से रह रही है। कुछ माह पहले देवरानी और जेठानी का झगड़ा हो गया तो सारा राज खुल गया। संपत्ति के लिए विवाद हाेने पर जेठानी ने पासपोर्ट वाले मामले की शिकायत पुलिस से कर दी। इससे देवरानी आैर उसक पति के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।थाना सिविल लाइन के एसएचओ परमजीत सिंह का कहना है कि मामले की जांच अभी भी चल रही है। प्राथमिक जांच में आरोप सही पाए जाने पर ही केस दर्ज किया गया है। 10 साल बाद मामले की शिकायत क्यों की गई, इसकी की पड़ताल की जा रही है।

जानकारी के अनुसार, गांव गोखूवाल की महिला बलप्रीत काैर अौर उसका पति हरिंदरपाल सिंह 10 साल से कनाडा में रह रहे हैं। उनका सबकुछ ठीक ठाक चल रहा था। इसी बीच, 16 मार्च को बलप्रीत कौर की गांव गोखूवाल में ही रह रही जेठानी राजविंदर कौर ने पुलिस में एक शिकायत दी।

रा‍जविंदर ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि उसकी देवरानी बलप्रीत कौर ने अपने पति हरिंदर पाल के साथ मिलकर 10 साल पहले उसके दसवीं की सर्टिफिकेट पर पासपोर्ट बनवाया था। उसने इसके बाद वह पति के साथ कनाडा चली गई। उसे अब पता चला है कि बलप्रीत कौर तो पांचवीं तक पढ़ी है और राजविंदर कौर बनकर कनाडा चली गई। मामले की जांच एसपी सूबा सिंह ने की और आरोप को सही पाया। इसके बाद पुलिस ने अब धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस के अनुसार बलप्रीत कौर व हरिंदरपाल 10 साल पहले कनाडा चले गए थे। दूसरा भाई यानी राजविंदर कौर का पति गांव गोखूवाल में ही खेती करता है। दोनों भाइयों में अब पैसे व जमीन के बंटवारे को लेकर तकरार हो गई है। माना जा रहा है कि इसी तकरार के चलते देवरानी के फर्जी पासपोर्ट का मामला सामने आया है।

थाना सिविल लाइन के एसएचओ परमजीत सिंह का कहना है कि मामले की जांच अभी भी चल रही है। प्राथमिक जांच में आरोप सही पाए जाने पर ही केस दर्ज किया गया है। 10 साल बाद मामले की शिकायत क्यों की गई, इसकी की पड़ताल की जा रही है।

 

You May Also Like

English News