जेल में हनीप्रीत से मिलने आए भाई-बहन, कह गए ये बड़ी बात, जानिए क्या…

राम रहीम की ‘दुलारी’ हनीप्रीत से मिलने भाई-भाभी और बहन-जीजा जेल पहुंचे तो उन्हें देखकर वह रोने लगी। यह देखकर उन सभी ने हनीप्रीत से बड़ी बात कही, जानिए क्या।जेल में हनीप्रीत से मिलने आए भाई-बहन, कह गए ये बड़ी बात, जानिए क्या...UP में अंधेरे का लाभ उठा अवैध खनन कर रहे हैं रेत माफिया…

अंबाला सेंट्रल जेल के मुलाकाती कक्ष में हनीप्रीत ने शीशे के केबिन से जैसे ही अपने भाई-बहन को देखा तो भावुक हो गई और फूट-फट कर रोने लगी। हनीप्रीत को रोते देखकर भाई-बहन ने उसे ढाढस बंधाया और टेंशन न लेने के बात कही। साथ ही मजबूती से हालातों से लड़ने को कहा। उन्होंने उसे जल्द जेल से बाहर निकलवाने का आश्वासन देते रहे।
 वहीं सभी से मिलने के बाद हनीप्रीत कुछ रिलैक्स नजर आई। परिजनों और हनीप्रीत के बीच इंटरकॉम के जरिए बातचीत हुई। करीब 15 मिनट की मुलाकात के बाद परिजन दोबारा आने का आश्वासन देकर चले गए। वीरवार शाम करीब पौने पांच बजे हनीप्रीत के परिजनों में भाई साहिल, भाभी सोनाली, बहन निशु और जीजा संचित बजाज अंबाला सेंट्रल जेल पहुंचे थे।
 परिजनों ने हनीप्रीत को कुछ कपड़े भी सौंपे, जिनकी जेल प्रशासन ने पूरी जांच पड़ताल की और फिर हनीप्रीत को दे दिए। जेल प्रशासन ने औपचारिकता पूर्ति करने के बाद हनीप्रीत से मुलाकात कराई। सेंट्रल जेल में हनीप्रीत की मुलाकात शीशे के केबिन में हुई। तिहाड़ की तर्ज पर बने इस केबिन में हनीप्रीत और उसके परिजन एक-दूसरे को देख सकते हैं, लेकिन छू नहीं सकते हैं।
 वहीं सेंट्रल जेल में बंद हनीप्रीत से मिलने आए उनके रिश्तेदारों को मिलने के लिए नियमों में छूट दी जा रही है। समय खत्म होने के बाद भी इनकी कार को अंदर जाने दिया गया, जिसका बाहर खड़े लोगों ने विरोध जताया है। जेल में बंद हनीप्रीत को वीआईपी ट्रीटमेंट मिलने का मामला सुर्खियों में है। बताया जाता है कि हनीप्रीत से मिलने के लिए आने वाले उनके रिश्तेदारों को नियमों में छूट दी जा रही है।
 आरोप हैं कि वीरवार शाम हनीप्रीत का परिवार उससे मिलने के लिए आया तो गाड़ी को बिना किसी चेकिंग के इस गाड़ी को सीधे सेंट्रल जेल में जाने दिया गया। परिवार के सदस्यों को छोड़कर गाड़ी बाहर आ गई, लेकिन आरोप है कि हनीप्रीत के परिवार को छूट दी जा रही है, जबकि जेल में बंद दूसरे कैदियों से मिलने आने वालों को जेल परिसर के आसपास इकट्ठे भी नहीं होने दिया जाता।
 बता दें कि कोर्ट से जेल भेजे जाने से लेकर अब तक तीन बार हनीप्रीत से मिलने के लिए परिवार आ चुका है। पहली बार कोर्ट में हनीप्रीत से मिलने के लिए परिवार आया था। दूसरी बार दिवाली से एक दिन पहले पूरा परिवार हनीप्रीत से मिलने के लिए जेल पहुंचा था।
loading...

You May Also Like

English News