टीईटी में शामिल नहीं हो सकेंगे 32589 अभ्यर्थी, जानिए इस वजहों से निरस्त हुए फॉर्म

शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में 32589 अभ्यर्थी शामिल नहीं हो सकेंगे। प्राथमिक स्तर पर 14885 एवं उच्च प्राथमिक स्तर पर 17704 अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त किए गए हैं।टीईटी में शामिल नहीं हो सकेंगे 32589 अभ्यर्थी, जानिए इस वजहों से निरस्त हुए फॉर्म‘अर्थव्यवस्था की सेहत’ पर यशवंत को जेटली का जवाब, रखे ये 10 तथ्य…

टीईटी के लिए 10 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। इसमें से प्राथमिक स्तर के लिए 14791 अभ्यर्थियों को इसलिए परीक्षा से बाहर कर दिया है क्योंकि उन्होंने एक से अधिक आवेदन किए।

जबकि चार वर्षीय शिक्षाशास्त्र में स्नातक अर्हताधारी सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के इंटरमीडिएट में 50 प्रतिशत से कम तथा आरक्षित श्रेणी अभ्यर्थियों के 45 प्रतिशत से कम अंक होने पर 94 के आवेदन निरस्त कर दिए गए।

इसी तरह उच्च प्राथमिक स्तर पर 9580 अभ्यर्थियों ने एक से अधिक आवेदन भरे, जिन्हें निरस्त कर दिया गया। इसके साथ बीएड (विशेष शिक्षा) अर्हताधारी सामान्य वर्ग अभ्यर्थियों के स्नातक अथवा परास्नातक में 50 प्रतिशत से कम और आरक्षित श्रेणी में 45 प्रतिशत से कम अंक होने पर 5343 अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त कर दिए गए।

बीएड (शिक्षाशास्त्र में स्नातक) अर्हताधारी सामान्य वर्ग अभ्यर्थियों के स्नातक अथवा परास्नातक में 45 प्रतिशत से कम व आरक्षित श्रेणी में 40 प्रतिशत से कम अंक होने पर 2678 आवेदन निरस्त हुए।

इसी तरह चार वर्षीय शिक्षाशास्त्र में स्नातक अर्हताधारी सामान्य वर्ग अभ्यर्थियों के इंटरमीडिएट में 50 प्रतिशत से कम व आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों के 45 प्रतिशत से कम होने पर 16, बीएएड (चार वर्षीय पाठ्यक्रम) अर्हताधारी सामान्य वर्ग के 53, बीएससीएड (चार वर्षीय शिक्षाशास्त्र में स्नातक) अर्हताधारी सामान्य वर्ग अभ्यर्थियों के इंटरमीडिएट में 50 प्रतिशत से कम तथा आरक्षित श्रेणी में 45 प्रतिशत से कम अंक होने पर 32, विशिष्ट बीटीसी अर्हताधारी दो अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त किए गए।

You May Also Like

English News