टीम इंडिया के लिए विकेटकीपिंग करने को तैयार हैं लोकेश राहुल

ओपनिंग बल्लेबाज लोकेश राहुल अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच में अंगूठे की चोट से जूझ रहे विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के स्थान पर विकेटकीपर की जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार हैं.अफगानिस्तान ने इस एकमात्र टेस्ट मैच के लिए 16 सदस्यीय टीम की घोषणा की है, जिसमें स्पिन गेंदबाज अधिक हैं. इस टीम में पांच स्पिन गेंदबाज हैं, जिसमें मोहम्मद नबी, राशिद खान, मुजीब उर रहमान, जाहिर खान और हामजा कोटक शामिल हैं. कोटक हाल ही में फर्स्ट क्लास में सबसे अधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी बनकर उबरे हैं.  19 साल के राशिद में 30 साल के खिलाड़ी जैसा दिमाग: सिमंस  अपनी रणनीति पर बात करते हुए 26 वर्षीय खिलाड़ी ने राहुल ने कहा, 'आईपीएल के शानदार गेंदबाज राशिद के अलावा युवा खिलाड़ी मुजीब और अन्य दो चाइनामैन गेंदबाज जहीर खान और हमजा जैसे गेंदबाजों का प्रदर्शन देखने लायक है.'  राहुल ने कहा, 'राशिद और मुजीब ने पूरे विश्व को हैरान कर रखा है और उनकी प्रतिभा छोटे फॉर्मेट में उभर कर नजर आती है, लेकिन मुझे लगता है कि ये दोनों टेस्ट फॉर्मेट में एक अन्य संघर्ष के लिए तैयार हैं. हमारी रणनीति एक टीम के रूप में अपनी मजबूती पर काम करने और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की है.'

लोकेश का कहना है कि अगर भारतीय क्रिकेट टीम की मांग होगी, तो वह विकेटकीपिंग करने के लिए भी सक्षम हैं. राहुल ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘मैं हमेशा दोहरी चुनौती के लिए तैयार हूं. मैं कड़ी ट्रेनिंग कर रहा हूं और अगर टीम की मांग हुई, तो विकेटकीपर की भूमिका भी संभालूंगा.’

अफगानिस्तान ने इस एकमात्र टेस्ट मैच के लिए 16 सदस्यीय टीम की घोषणा की है, जिसमें स्पिन गेंदबाज अधिक हैं. इस टीम में पांच स्पिन गेंदबाज हैं, जिसमें मोहम्मद नबी, राशिद खान, मुजीब उर रहमान, जाहिर खान और हामजा कोटक शामिल हैं. कोटक हाल ही में फर्स्ट क्लास में सबसे अधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी बनकर उबरे हैं.

अपनी रणनीति पर बात करते हुए 26 वर्षीय खिलाड़ी ने राहुल ने कहा, ‘आईपीएल के शानदार गेंदबाज राशिद के अलावा युवा खिलाड़ी मुजीब और अन्य दो चाइनामैन गेंदबाज जहीर खान और हमजा जैसे गेंदबाजों का प्रदर्शन देखने लायक है.’

राहुल ने कहा, ‘राशिद और मुजीब ने पूरे विश्व को हैरान कर रखा है और उनकी प्रतिभा छोटे फॉर्मेट में उभर कर नजर आती है, लेकिन मुझे लगता है कि ये दोनों टेस्ट फॉर्मेट में एक अन्य संघर्ष के लिए तैयार हैं. हमारी रणनीति एक टीम के रूप में अपनी मजबूती पर काम करने और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की है.’

आईपीएल में भी राहुल ने विकेटकीपिंग का काम किया था और इसमें अच्छा प्रदर्शन भी किया था. इसके अलावा, वह टूर्नामेंट में सबसे अधिक स्कोर करने वाले खिलाड़ियों की सूची में तीसरे स्थान पर रहे. उन्होंने 54.91 की औसत से 659 रन बनाए. राहुल ने 14 पारियों में छह अर्धशतक लगाए.

भारत की लोकप्रिय घरेलू टी-20 लीग में विकेटकीपर की नई भूमिका के बारे में राहुल ने कहा, ‘यह पहली बार नहीं है कि मैंने दोहरी चुनौती को स्वीकार किया है. मुझे पता है कि यह मेरे शरीर के लिए थोड़ा मुश्किल है, क्योंकि मैंने पूरे साल नियमित रूप से ऐसा नहीं किया है. इसीलिए, आप टीम की मांग चाहते हो.’

एजेंसी के मुताबिक राहुल ने कहा, ‘मैं इसे एक चुनौती के रूप में लूंगा और विकेटकीपिंग पर काम करूंगा. यह एक टीम का खेल है और आपको टीम की इच्छा के अनुसार इस भूमिका को निभाने के लिए तैयार रहना पड़ेगा.’

 

You May Also Like

English News