टी10 लीग: जानिए किस बैट्समैन के बैट से निकले 162 छक्‍के…

शारजहा में खेला गया क्रिकेट का सबसे छोटा फॉर्मेट टी10 लीग का फाइनल केरल किंग्स और पंजाबी लीजेंड्स के बीच खेला गया। फाइनल में केरल किंग्स ने पंजाबी लीजेंड्स को 8 विकेट से मात दी। 10 ओवर के इस लीग में 13 मैच खेले गए और मात्र 4 दिन में ही समाप्त हो गई। इस लीग के 13 मैचों में 162 छक्के लगे। टी10 लीग: जानिए किस बैट्समैन के बैट से निकले 162 छक्‍के...इंग्लैंड के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने दोबारा हासिल की एशेज ट्रॉफी…

इस लीग को आयोजकों ने सिर्फ ट्रायल के तौर पर आयोजित किया था, लेकिन दर्शकों के गजब के उत्साह को देखकर माना जा रहा है कि एक बार भी जल्द ही इस तरह की लीग आयोजन होगा। इस लीग में खेले गए 13 मैचों में लगे 162 छक्के आकर्षण का केंद्र रहे। आइए उन खिलाड़ियों पर नजर डालते हैं, जिन्होंने इस लीग में सबसे ज्यादा छक्के लगाए… 

इस लीग में बसे ज्यादा छक्के मारने का कारनामा लीग की चैंपियन टीम केरल किंग्स ने किया। केरल ने पूरे लीग में 34 छक्के जड़े। इस टीम की ओर से सबसे छक्के दो बल्लेबाजों ने मारे पहले हैं कप्तान ऑयन मॉर्गन और दूसरे हैं पॉल स्टिरलिंग। इन दोनों ने ही 11-11 छक्के मारे और संयुक्त रूप से पहले नंबर पर रहे।  

लीग में दूसरे नंबर सबसे ज्यादा छक्के मारने वाली टीम रही पंजाबी लीजेंड्स। इस टीम ने लीग में 29 छक्के मारे। पंजाब की ओर से सबसे ज्यादा छक्के कप्तान शोएब मलिक ने जड़े। मलिक ने 11 छक्के मारे, इसके अलावा पंजाब के लिए ल्यूक रॉन्की ने 9 छक्के मारे। 

टी10 लीग ने तीसरे नंबर पर छक्के मारने के मामले में बंगाल टाइगर्स रही। इस टीम ने कुल 28 छक्के मारे और अगर फाइनल खेलती तो शायद सबसे ज्यादा छक्के मारने वाली टीम बनती। बंगाल की ओर से डेविड मिलर ने सबसे ज्यादा 10 छक्के लगाए। इसके अलावा जॉनथन चार्ल्स सबसे ज्यादा 8 बार बॉल को सीमा रेखा से पारी भेजी। 

इस लीग में एक मात्र टीम इंडिया के खिलाड़ी के तौर पर खेल रहे वीरेंद्र सगवाग की मराठा अरेबियंस ने 27 छक्के मारे। मराठा अरेबियंस के लिए रिली रूसो ने सबसे ज्यादा 12 छक्के मारे। रूसो इस लीग में सबसे ज्यादा छक्के मारने वाले बल्लेबाज रहे। 

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी की नेतृत्व वाली टीम पख्तूंस ने लीग में छक्के मारने के मामले में पांचवें नंबर पर रही। इस टीम के लिए सबसे ज्यादा छक्के शाहिद अफरीदी (9) ने ही मारे। अफरीदी ने लीग में पहली हेट्रिक भी ली। 

टीम श्रीलंका इस लीग में छक्के मारने के मामले में सबसे पीछे रही। श्रीलंका ने पूरे लीग में सिर्फ 20 छक्के ही मारे। इस टीम के लिए संयुक्त रूप से रंबुकवेला और राजपक्षा ने 7-7 छक्के लगाए। 

You May Also Like

English News