टेरर फंडिंग के मामले में UP एटीएस को बड़ी सफलता, 42 लाख कैश समेत 10 गिरफ्तार

टेरर फंडिंग के मामले में यूपी एटीएस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। एटीएस ने गोरखपुर, प्रतापगढ़, लखनऊ और मध्य प्रदेश के रीवा से आतंकी संगठनों को पैसा मुहैया करने के आरोप में दस लोगों को गिरफ्तार किया है।   टेरर फंडिंग के मामले में UP एटीएस को बड़ी सफलता, 42 लाख कैश समेत 10 गिरफ्ताररविवार को इस मामले में जानकारी देते हुए आईजी एटीएस असीम अरुण ने बताया कि यूपी और एमपी के दो लोग पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैय्यबा के संपर्क में थे। जोकि, आतंकियों के कहने पर भारत में फर्जी अकाउंट खोलने और अन्य आतंकियों के खातों में पैसे भेजने का काम कर रहे थे।

इसकी सूचना एटीएस को मिली थी। जिसपर कार्रवाई करते हुए 24 मार्च को एटीएस ने गोरखपुर, प्रतापगढ़, लखनऊ और रीवा में छापेमारी की। यहां से दस लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर इस साजिश का खुलासा हुआ है।

अपराधियों ने आतंकियों के कहने पर पैसे ट्रांसफर करने और अवैध खातों को खोलने की बात स्वीकार की है। जिन खातों में पैसे ट्रांसफर किए गए हैं उनकी जांच की जा रही है। जल्द ही इस मामले में कई और खुलासे सामने आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। गिरफ्तार किए गए अपराधियों का ब्योरा इस प्रकार है-

भारी मात्रा में कैश और एटीएम बरामद

इनके पास से भारी मात्रा में एटीएम कार्ड, 42 लाख रुपए नगद, 06 स्वैप मशीन, मैग्नेटिक कार्ड रीडर, तीन लैपटॉप, मोबाइल फोन, एक देशी पिस्टल, दस कारतूस, बड़ी संख्या में अलग-अलग बैंकों के पासबुक, फर्जी डॉक्यूमेंट बनाने की सामग्री बरामद हुई है।

डीजीपी ने दी बधाई

यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने एटीएस की इस सफलता पर पूरी टीम को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि सीएम योगी द्वारा एसटीए की मजबूती पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यह खुलासा एटीएस की विकसित हुई क्षमताओं का परिणाम है। उन्होंने इस तरह के नेटवर्क को आतंकवाद का इंफ्रास्ट्रक्चर बताते हुए नष्ट करने की बात कही। 

You May Also Like

English News