टेस्ट में पारी की शुरुआत की पेशकश की गई तो इसके लिए तैयार हूं: रोहित

इंग्लैंड दौरे पर ओपनिंग की समस्या से जूझ रही टीम इंडिया की समस्या रोहित शर्मा हल करना चाहते हैं. रोहित के मुताबिक अगर भारतीय टीम मैनेजमेंट उन्हें बतौर ओपनर टेस्ट में उतारती है तो वह इस नई और बड़ी जिम्मेदारी के किए तैयार हैं.इंग्लैंड दौरे पर ओपनिंग की समस्या से जूझ रही टीम इंडिया की समस्या रोहित शर्मा हल करना चाहते हैं. रोहित के मुताबिक अगर भारतीय टीम मैनेजमेंट उन्हें बतौर ओपनर टेस्ट में उतारती है तो वह इस नई और बड़ी जिम्मेदारी के किए तैयार हैं.  वनडे और टी-20 में पारी के आगाज ने रोहित शर्मा को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया. रोहित ने टेस्ट क्रिकेट में 25 मैचों में तीन शतक और नौ अर्धशतक से 40 से कुछ कम की औसत से 1479 रन बनाए हैं, लेकिन फिलहाल वह पांच दिवसीय प्रारूप की टीम का हिस्सा नहीं हैं.  लोकेश राहुल, शिखर धवन और मुरली विजय की सलामी तिकड़ी को इंग्लैंड में जूझना पड़ रहा है और ऐसे में जब रोहित से पूछा गया कि क्या वह टेस्ट क्रिकेट में भी पारी का आगाज करने को तैयार हैं तो उन्होंने कहा, ‘देखिए, मुझे अब तक कभी ऐसी पेशकश (टेस्ट क्रिकेट में पारी का आगाज) नहीं की गई लेकिन टीम प्रबंधन जो भी चाहता है मैं उसके लिए तैयार हूं.'  अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से शोक में डूबा खेल जगत  रोहित ने कहा, ‘जब मैंने खेलना शुरू किया या जब मैं भारत की ओर से खेल रहा था तो मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं वनडे मैचों में पारी की शुरुआत करूंगा, यह आगे बढ़ते हुए हो गया, इसलिए मैंने अपने विकल्प खुले रखे हैं. मैंने किसी विकल्प को बंद नहीं किया है इसलिए अगर मौका मिलेगा तो मैं इसके लिए तैयार हूं.’  उपमहाद्वीप के बाहर रोहित की तकनीक पर सवाल उठते रहे हैं, लेकिन इस स्टार बल्लेबाज को अब भी टेस्ट टीम में वापसी की उम्मीद है. रोहित ने पहले दो टेस्ट में शिकस्त के बाद पांच मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ी भारतीय टीम का समर्थन करते हुए कहा कि वापसी संभव है लेकिन यह आसान नहीं होगी.  पंड्या न तो बल्ले से चल रहे, न विकेट ले रहे, इस दिग्गज ने उठाए सवाल  रोहित ने कहा, ‘हां बेशक, हमें विश्वास रखना होगा कि हम ऐसा कर सकते हैं. यह इतना आसान नहीं होने वाला. हमने दक्षिण अफ्रीका में ऐसा किया जब पहले दो टेस्ट मैच गंवाने के बाद हमने जोहानिसबर्ग में वापसी की और वह टेस्ट जीता.’  उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि हम ऐसा कर सकते हैं, ऐसा नहीं है कि हम ऐसा नहीं कर सकते और टेस्ट मैच नहीं जीत सकते. हमने पहले भी इंग्लैंड में टेस्ट मैच जीते हैं, हमें बस इस मानसिकता के साथ उतरना होगा, उसी तरह खेलना होगा जैसे इंग्लैंड के पिछले दौरों पर टेस्ट मैच जीतने के दौरान खेले थे.इंग्लैंड दौरे पर ओपनिंग की समस्या से जूझ रही टीम इंडिया की समस्या रोहित शर्मा हल करना चाहते हैं. रोहित के मुताबिक अगर भारतीय टीम मैनेजमेंट उन्हें बतौर ओपनर टेस्ट में उतारती है तो वह इस नई और बड़ी जिम्मेदारी के किए तैयार हैं.  वनडे और टी-20 में पारी के आगाज ने रोहित शर्मा को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया. रोहित ने टेस्ट क्रिकेट में 25 मैचों में तीन शतक और नौ अर्धशतक से 40 से कुछ कम की औसत से 1479 रन बनाए हैं, लेकिन फिलहाल वह पांच दिवसीय प्रारूप की टीम का हिस्सा नहीं हैं.  लोकेश राहुल, शिखर धवन और मुरली विजय की सलामी तिकड़ी को इंग्लैंड में जूझना पड़ रहा है और ऐसे में जब रोहित से पूछा गया कि क्या वह टेस्ट क्रिकेट में भी पारी का आगाज करने को तैयार हैं तो उन्होंने कहा, ‘देखिए, मुझे अब तक कभी ऐसी पेशकश (टेस्ट क्रिकेट में पारी का आगाज) नहीं की गई लेकिन टीम प्रबंधन जो भी चाहता है मैं उसके लिए तैयार हूं.'  अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से शोक में डूबा खेल जगत  रोहित ने कहा, ‘जब मैंने खेलना शुरू किया या जब मैं भारत की ओर से खेल रहा था तो मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं वनडे मैचों में पारी की शुरुआत करूंगा, यह आगे बढ़ते हुए हो गया, इसलिए मैंने अपने विकल्प खुले रखे हैं. मैंने किसी विकल्प को बंद नहीं किया है इसलिए अगर मौका मिलेगा तो मैं इसके लिए तैयार हूं.’  उपमहाद्वीप के बाहर रोहित की तकनीक पर सवाल उठते रहे हैं, लेकिन इस स्टार बल्लेबाज को अब भी टेस्ट टीम में वापसी की उम्मीद है. रोहित ने पहले दो टेस्ट में शिकस्त के बाद पांच मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ी भारतीय टीम का समर्थन करते हुए कहा कि वापसी संभव है लेकिन यह आसान नहीं होगी.  पंड्या न तो बल्ले से चल रहे, न विकेट ले रहे, इस दिग्गज ने उठाए सवाल  रोहित ने कहा, ‘हां बेशक, हमें विश्वास रखना होगा कि हम ऐसा कर सकते हैं. यह इतना आसान नहीं होने वाला. हमने दक्षिण अफ्रीका में ऐसा किया जब पहले दो टेस्ट मैच गंवाने के बाद हमने जोहानिसबर्ग में वापसी की और वह टेस्ट जीता.’  उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि हम ऐसा कर सकते हैं, ऐसा नहीं है कि हम ऐसा नहीं कर सकते और टेस्ट मैच नहीं जीत सकते. हमने पहले भी इंग्लैंड में टेस्ट मैच जीते हैं, हमें बस इस मानसिकता के साथ उतरना होगा, उसी तरह खेलना होगा जैसे इंग्लैंड के पिछले दौरों पर टेस्ट मैच जीतने के दौरान खेले थे.

वनडे और टी-20 में पारी के आगाज ने रोहित शर्मा को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया. रोहित ने टेस्ट क्रिकेट में 25 मैचों में तीन शतक और नौ अर्धशतक से 40 से कुछ कम की औसत से 1479 रन बनाए हैं, लेकिन फिलहाल वह पांच दिवसीय प्रारूप की टीम का हिस्सा नहीं हैं.

लोकेश राहुल, शिखर धवन और मुरली विजय की सलामी तिकड़ी को इंग्लैंड में जूझना पड़ रहा है और ऐसे में जब रोहित से पूछा गया कि क्या वह टेस्ट क्रिकेट में भी पारी का आगाज करने को तैयार हैं तो उन्होंने कहा, ‘देखिए, मुझे अब तक कभी ऐसी पेशकश (टेस्ट क्रिकेट में पारी का आगाज) नहीं की गई लेकिन टीम प्रबंधन जो भी चाहता है मैं उसके लिए तैयार हूं.’

रोहित ने कहा, ‘जब मैंने खेलना शुरू किया या जब मैं भारत की ओर से खेल रहा था तो मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं वनडे मैचों में पारी की शुरुआत करूंगा, यह आगे बढ़ते हुए हो गया, इसलिए मैंने अपने विकल्प खुले रखे हैं. मैंने किसी विकल्प को बंद नहीं किया है इसलिए अगर मौका मिलेगा तो मैं इसके लिए तैयार हूं.’

उपमहाद्वीप के बाहर रोहित की तकनीक पर सवाल उठते रहे हैं, लेकिन इस स्टार बल्लेबाज को अब भी टेस्ट टीम में वापसी की उम्मीद है. रोहित ने पहले दो टेस्ट में शिकस्त के बाद पांच मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ी भारतीय टीम का समर्थन करते हुए कहा कि वापसी संभव है लेकिन यह आसान नहीं होगी.

रोहित ने कहा, ‘हां बेशक, हमें विश्वास रखना होगा कि हम ऐसा कर सकते हैं. यह इतना आसान नहीं होने वाला. हमने दक्षिण अफ्रीका में ऐसा किया जब पहले दो टेस्ट मैच गंवाने के बाद हमने जोहानिसबर्ग में वापसी की और वह टेस्ट जीता.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि हम ऐसा कर सकते हैं, ऐसा नहीं है कि हम ऐसा नहीं कर सकते और टेस्ट मैच नहीं जीत सकते. हमने पहले भी इंग्लैंड में टेस्ट मैच जीते हैं, हमें बस इस मानसिकता के साथ उतरना होगा, उसी तरह खेलना होगा जैसे इंग्लैंड के पिछले दौरों पर टेस्ट मैच जीतने के दौरान खेले थे.

You May Also Like

English News