ट्रंप ने उ कोरिया को दी चेतावनी: कहा- धमकाना बंद करे, नहीं तो उसे बरबाद कर देंगे

वाशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया को नयी चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उत्तर कोरिया ने अमेरिका या उसके किसी सहयोगी देश पर हमला करने के बारे में सोचा भी तो उसके साथ ऐसा होगा जो उसने ‘कभी सोचा भी नहीं’ होगा. ट्रंप ने मंगलवार को दिये अपने बयान का जिक्र करते हुए कहा कि संदेश उतना कड़ा नहीं था और अब यह वक्त अमेरिका के लोगों के लिए कदम उठाने का है. ट्रंप ने मंगलवार को कहा था कि अगर उत्तर कोरिया, अमेरिका को धमकाता है तो उसे विध्वंस का सामना करना पड़ेगा.ट्रंप ने उत्तर कोरिया को दी चेतावनी- धमकाना बंद करे, नहीं तो उसे बरबाद कर देंगे
ट्रंप ने गुरुवार को न्यू जर्सी के बेडमिंस्टर में गर्मियों की छुट्टियां बितानेवाले अपने घर में संवाददाताओं से कहा, ‘यह पहली बार है जब उन्होंने यह सुना है जैसा कि वे सुनते हैं. साफ तौर पर कहूं तो यह बयान उतना भी सख्त नहीं था.’ उन्होंने कहा, ‘वे लंबे समय, कई वर्षों से हमारे देश के साथ यह कर रहे हैं और अब वक्त आ गया है कि कोई व्यक्ति देश और अन्य देशों के लोगों के लिए खड़ा रहे. इसलिए बयान ज्यादा सख्त नहीं था.’ राष्ट्रपति मंगलवार को दिये गये बयान पर एक सवाल का जवाब दे रहे थे. पारंपरिक विदेश नीति के विशेषज्ञों और डेमोक्रेटिक सांसदों ने उनके इस बयान की आलोचना की है.

#बड़ी खबर: बिखर गया समाजवाद, सपा पार्टी के 26 नेताओं ने एक साथ दिया इस्तीफा

ट्रंप ने कहा, ‘हमारी सेना से हमें 100 फीसदी समर्थन मिला है. हर किसी ने हमारा समर्थन किया है. कई अन्य नेताओं ने हमारा समर्थन किया है. मैंने नोटिस किया कि कई सीनेटर और अन्य आज उसके पक्ष में आ गये है जो भी मैंने कहा था. लेकिन, शायद बयान उतना सख्त नहीं था.’ ट्रंप ने कहा, ‘इस देश के लोगों को काफी सहज होना चाहिए और मैं आपको यह बता दूं कि अगर जिसे हम प्यार करते हैं या जिसका हम प्रतिनिधित्व करते हैं, या हमारे सहयोगियों या हम पर हमला करने के बारे में सोंचता भी है तो वे भयभीत हो सकते हैं.’

ट्रंप ने कहा, ‘उन्हें काफी भयभीत होना चाहिए क्योंकि उनके साथ ऐसा होगा तो उन्होंने कभी सोचा भी नहीं होगा. वह (किम जोंग उन) लंबे समय से दुनिया को इस ओर धकेल रहे हैं. चीन और रूस ने जो किया उसका मैं बहुत सम्मान करता हूं और हमें शून्य के मुकाबले 15 वोट मिले. ‘बहरहाल, राष्ट्रपति ने इसकी जानकारी नहीं दी कि कैसे अमेरिका, उत्तर कोरिया से पैदा होनेवाले खतरे से निपटने की योजना बना रहा है.

ट्रंप ने कहा, ‘लेकिन मैं आपको बता सकता हूं कि वे (उत्तर कोरिया) क्या कर रहे हैं और वे जो पा रहे हैं वह त्रासदी है. इसकी मंजूरी नहीं दी जा सकती.’ ट्रंप ने एशियाई देश पर सुरक्षा परिषद से प्रतिबंध लगवाने में सफल होने पर संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली की भी प्रशंसा की. उन्होंने कहा, ‘निक्की हेली ने बहुत अच्छा काम किया. हम सबने अच्छा काम किया. लेकिन, उन्होंने जो किया उसके लिए मेरे दिल में बहुत सम्मान है. मैं शून्य के मुकाबले 15 मतों से प्रस्ताव पारित होने का सम्मान करता हूं, लेकिन शायद यह उतना प्रभावी नहीं होगा जितना कई लोग सोचते हैं. दुर्भाग्यपूर्ण.’ चीन के बारे में ट्रंप ने कहा कि कम्युनिस्ट राष्ट्र किम जोंग उन के शासन से पैदा हो रहे खतरे से निपटने में अमेरिका की मदद करने के लिए और भी बहुत कुछ कर सकता है.

पहली बार अखिलेश और मायावती होंगे एक साथ, होगा दलितों- पिछड़ों की नई राजनीति का आगाज

उन्होंने कहा, ‘हमारा चीन के साथ व्यापार है. हमें चीन के साथ व्यापार में एक साल में अरबों डॉलर का नुकसान हुआ. वे जानते हैं, मैं कैसा महसूस करता हूं. यह इस तरह जारी नहीं रह सकता. लेकिन, चीन अगर मदद करे तो व्यापार में काफी कुछ बदल सकता है. ‘इस बीच एएफपी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने चेतावनी दी कि उत्तर कोरिया के साथ युद्ध’ ‘विनाशकारी’ होगा और उन्होंने कहा कि कूटनीतिक प्रयासों से परिणाम सामने आ रहे हैं. मैटिस ने गुरुवार को कैलिफोर्निया में एक कार्यक्रम में कहा कि उनका मिशन और जिम्मेदारी यह है कि ‘जरूरत पड़ने’ पर सैन्य विकल्पों को तैयार रखा जाये, लेकिन साथ ही उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि अभी अमेरिका के प्रयास कूटनीति पर केंद्रित हैं.

You May Also Like

English News