ट्रक चालकों के हंगामा के बाद फरेंदा रोड पर आवागमन कर दिया बहाल…

एक सप्ताह से परेशान ट्रक चालकों ने कलेक्ट्रेट पर हंगामा किया तो प्रशासन की पहल पर फरेंदा रोड पर आवागमन बहाल कर दिया गया। इसके साथ ही शिकारपुर में काफी दिनों से कतार में खड़े ट्रक निकलने लगे। इससे ट्रक चालकों ने राहत की सांस ली।ट्रक चालकों के हंगामा के बाद फरेंदा रोड पर आवागमन कर दिया बहाल...बड़ी खबर: मुलायम सिंह की बहू और आरक्षण विरोधी अपर्णा अब BJP की तरफ से लड़ेंगी चुनाव…पुरे UP में मचा हडकंप!

आईटीएम के पास सड़क क्षतिग्रस्त होने से भारी वाहन का प्रवेश वर्जित कर दिया गया था। इससे शिकारपुर के पास ट्रकों की लंबी कतार लग गई। करीब एक सप्ताह से परेशान ट्रक चालक शुक्रवार को कलेक्ट्रेट पहुंचे और गुस्से का इजहार करते हुए प्रशासन से फरेंदा रोड पर भारी वाहनों का आवागमन बहाल करने की मांग की। कुछ देर बाद ट्रक चालकों से एडीएम ने बातचीत की। एडीएम ने पीडब्ल्यूडी के अफसरों से रोड के वर्तमान हालात के बारे में जानकारी ली।

इसके बाद फरेंदा रोड पर आवागमन शुरू कर दिया गया। इस प्रकार एक सप्ताह से परेशान ट्रक चालकों ने राहत की सांस ली और शिकारपुर चौराहे के पास पहुंचे। ट्रक चालकों ने प्रशासन से प्रति आभार जताया। इस दौरान ट्रक चालक विश्वजीत जायसवाल, जमील, मुख्तार खान, अब्दुल सत्तार, भजन सिंह, कमालुद्दीन, राजबली, संतोष, विशाल, पिंटू, धनराज प्रसाद, नरेंद्र प्रजापति, बाहुबली, कामेश्वर, संजय कुमार, तैयब अंसार, मोहम्मद इलियास, महबूब खान, अब्दुल खान, प्रताप कुमार आदि मौजूद रहे।

ट्रक स्टार्ट होते ही खिल उठा ट्रक चालको का मायूस चेहरा
महराजगंज। एक सप्ताह से शिकारपुर चौराहे पर फंसे ट्रक चालको को जैसे ही प्रशासन का आदेश मिला कि आवागमन शुरू कर दिया गया है। यह सुन ट्रक चालक तेजी से ट्रक के पास पहुंचे तो उनके खशी का ठिकाना न रहा। ट्रक स्टार्ट करते उनके मायूस चहेरे खिल उठे। एक सप्ताह से दुश्वारियों को झेलने वाले ट्रक चालको ने अमर उजाला टीम को अपनी पीडा सुनाया। कोई जम्मु से सामन लेकर नौतनवां जा रहा था तो तमिलनाडू से सामान लेकर नेपाल। विभिन्न स्थानों से आए ट्रक चालक आदेश मिलते ही ट्रक लेकर गंतव्य की ओर रवाना हुए।

सियाराम यादव वाराणसी चोलापुर के हैं। यह ट्रक से गिट्टी लेकर पुरंदरपुर जा रहे थे। बीते 19 अगस्त से शिकारपुर में ट्रक खड़ा रहा। बोले कि आवागमन बहाल के होने का इंतजार कर रहा था। प्रशासन तक आवाज पहुंची तो समस्या का समाधान हो गया। झांसी से गिट्टी लेकर जा रहे बाबू लाल ने बताया कि 17 अगस्त से शिकारपुर चौराहे से आगे ट्रक खड़ा रहा है। इतने दिन वक्त बेहद मुश्किल से कटा। अगर पहले आवागमन बहाल हुआ होता तो कुछ फायदा मिलता।

फरेंदा में गिट्टी को पहुंचाना है। 
आर मणि ने बताया कि तमिलनाडु से रस्सी लेकर आ रहे हैं। उसे नेपाल ले जाना है। 16 अगस्त से शिकारपुर से थोडा पहले पता चला कि रास्ता बंद है, तो वहीं रुक गया। अब आवागमन शुरू हुआ है तो जा रहे हैं। इस बीच बहुत परेशानी हुई। भजन सिंह तो तीखे अंदाज में प्रशासन पर रोष प्रकट किया। बोले कि पहले अगर रोड दुरुस्त हो गया होता तो मुश्किल न होती। बोले जम्मू से पेंट लेकर आ रहे हैं। उसे नौतनवां कस्बे में पहुंचाना है। 14 अगस्त से ही शिकारपुर में ट्रक खड़ा रहा।

You May Also Like

English News