डिप्टी CM दिनेश शर्मा बड़ा बयान: कहा- मुगल हमारे पूर्वज नहीं, लुटेरे थे, अब यही इतिहास लिखा जाएगा

आजतक के सफाईगीरी मंच पर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि सूबे में पाठ्यक्रम बदला जाएगा. इस दौरान उन्होंने कहा कि मुगल शासक लुटेरे थे, वो हमारे पूर्वज नहीं हैं और अब यही इतिहास लिखा जाएगा.डिप्टी CM दिनेश शर्मा बड़ा बयान: कहा- मुगल हमारे पूर्वज नहीं, लुटेरे थे, अब यही इतिहास लिखा जाएगाकश्मीर मुद्दे पर राहुल ने दिया बड़ा बयान, कहा- आतंकवाद को मनमोहन सरकार ने कम किया, मगर भाषण नहीं दिया

हालांकि, अपने बयान में दिनेश शर्मा ने ये भी कहा कि मुगल शासकों ने जो अच्छे काम किए हैं, उनकी हम प्रशंसा करते हैं. मगर हमारी संस्कृति विध्वंसक नहीं हो सकती. उन्होंने ये भी कहा कि इतिहास को भूलने से विकृति पैदा होती है.

बहादुर शाह जफर थे गोहत्या के विरोधी

दिनेश शर्मा ने कहा कि जिन मुगल शासकों ने गलत काम किया है, हम उन्हें ही लुटेरा मानते हैं. दिनेश शर्मा ने कहा, ‘बाबर और औरंगजेब लुटेरे थे, शाहजहां हाथ काटने वाला था. मगर, मंगल पांडे ने जब क्रांति की शुरुआत की तो बहादुर शाह जफर ने इसका समर्थन किया. उन्होंने भारत में गोहत्या का विरोध किया था. इसलिए उनका कोई विरोध नहीं है’.

दिनेश शर्मा ने ये भी कहा कि हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं अपनी पूजा के साथ मजार, गुरुद्वारे और गिरजाघर में भी जाता हूं’.

पीएम अच्छे मुगल की दरगाह पर गए 

दिनेश शर्मा ने पीएम मोदी के बहादुरशाह जफर की दरगाह पर जाने को लेकर भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि बहादुरशाह जफर अच्छे मुगल शासक थे, इसीलिए मोदी जी म्यांमार में उनकी दरगाह पर गए थे.

अकबर पर भी बोले दिनेश शर्मा

अकबर ने अच्छे काम किए होंगे तो वो इतिहास के पन्नों में रहेंगे. दिनेश शर्मा ने बताया, ‘इतिहासकार ये तय करेंगे कि अकबर को कहां जगह मिलेगी. सरकार ऐसे लोगों को चुनेगी’. दिनेश शर्मा ने कहा कि मैं चाहता हूं जो इतिहास है, वही रहे.

You May Also Like

English News