बस में शुरू हुई थी इस BJP नेता की लव स्टोरी, नौ साल करना पड़ा था इंतजार

भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता शाहनवाज हुसैन ने दिल्ली की एक हिंदू लड़की से प्रेम विवाह किया, लेकिन इसके लिए उन्हें नौ साल तक पापड़ बेलने पड़े थे। साल 1986 में शाहनवाज ग्रेजुएशन की पढ़ाई के दौरान ‌डीटीसी की बसों से सफर किया करते थे।
 
डीटीसी बस में शुरू हुई थी इस BJP नेता की लव स्टोरी, नौ साल करना पड़ा था इंतजार

रोज की यात्रा में उनकी निगाह एक लड़की पर पड़ी। पहली ही नजर में उन्हें वो जंच गई। अगर कहें कि उन्हें देखते ही शाहनवाज उन पर फिदा हो गए तो कुछ गलत न होगा, लेकिन जिस पर वो फिदा हुए वो अचानक कहीं खो गई। कुछ दिनों बाद फिर शाहनावज को वह लड़की दिल्ली की बस में ही मिल गई।

राजधानी में मचा हड़कंप लालकिले के अंदर से मिला कारतूसों और हैंड ग्रेनेड का जखीरा

इसके बाद शाहनवाज ने लड़की को फॉलो करना शुरू किया। कई बार बस में हुई मुलाकात के बाद एक दिन ऐसा मौका आया जब बस में शाहनवाज को तो सीट मिल गई, लेकिन उस लड़की को नहीं मिली, तो उन्होंने उसे अपनी सीट ऑफर कर दी।

इसी आपाधापी में शाहनवाज एक दिन उस लड़की के घर पहुंच गए। इधर-उधर की बातों से लड़की के घर वालों से अच्छा रिश्ता बना लिया।

इसके बाद वह लड़की घर आने-जाने लगे। बातचीत में शाहनवाज पहले से माहिर थे, इसलिए लड़की के घरवालों से अच्छी जान-पहचान हो गई।

अगर वोट का नहीं किया प्रयोग तो सरकार पर आरोप लगाने का हक नहीं: सुप्रीम कोर्ट

लेकिन असल बात बनते नहीं दिख रही थी, तो अंत में शाहनवाज ने ठान लिया कि अब वह लड़की को अपने दिल की बात बता कर रहेंगे। तभी किसी रिश्तेदार के यहां कोई पार्टी हुई।

उसमें शाहनवाज हुसैन और वह लड़की दोनों पहुंचे। वहीं पर बातों ही बातों शाहनवाज ने अपने दिल की बात लड़की को बताई। लेकिन उनकी बातें सुनकर लड़की गुस्सा हो गई।

दरअसल, उस जमाने में दूसरे धर्म में शादी करना टेढ़ी खीर थी। ऊपर से लड़की ने भी शाहनवाज को मना कर दिया। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और एक दिन लड़की ने भी हां कर दी।

वह लड़की थीं रेनू, जो आज शाहनवाज हुसैन की पत्नी हैं। हालांकि इस लव स्टोरी के हिट होते-होते नौ साल लग गए।

 

You May Also Like

English News