डीविलियर्स के संन्यास पर कोहली बोले- आपने बदला बल्लेबाजी का अंदाज

दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने इस बुधवार को अचानक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेकर सबको हैरान कर दिया। डी विलियर्स ने अपने ट्विटर अकाउंट पर वीडियो पोस्ट करके दुनिया को अपने इस फैसले की जानकारी दी।संन्यास से पहले एबी डीविलियर्स आईपीएल 2018 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की तरफ से खेलते नजर आए थे। इस सीजन में आरसीबी को एबी डीविलियर्स ने कई मैच जिताए। पूरे सीजन में उनका बल्ला जमकर बोला। एबी डीविलियर्स ने इस सीजन में 11 मैच में 480 रन बनाए। इस दौरान डीविलियर्स ने 30 छक्के जड़े। वहीं उनका औसत 53 से ज्यादा का रहा। वहीं स्ट्राइक रेट के मामले में वो टॉप टेन बल्लेबाजों में सबसे ऊपर रहे। उनका स्ट्राइक रेट 174 से ऊपर रहा।  ऐसा रहा डीविलियर्स का करियर  एबी डीविलियर्स ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ की थी। इसके बाद एबी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। रोज नई इबारतें गढ़ते दिए और क्रिकेट की दुनिया में उनका कद बढ़ता ही गया। उनके रिकॉर्ड इसकी कहानी कहते हैं। एबी डीविलियर्स ने टेस्ट में 8765, वनडे में 9577 और T20I में 1672 रन उनके नाम दर्ज हैं।  डीविलियर्स वनडे के साथ ही टेस्ट में भी अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे। उन्होंने अपना पहला दोहरा शतक भारत के खिलाफ 2008 में ठोका था। इसके दो साल बाद भी एबी ने पाकिस्तान के खिलाफ अबू धाबी में हुए टेस्ट मैच में अपने करियर की सबसे बड़ी पारी खेलकर इतिहास रच दिया था। उस मैच में डीविलियर्स ने 278 रन बनाए थे।

डीविलियर्स ने कहा था कि, “मैं थक चुका हूं और अब खेलने की ताकत नहीं बची है। मगर मेरे लिए ये फैसला करना बहुत मुश्किल था। मगर मेरा मानना है कि दूसरे टैलेंटेड खिलाड़ियों के लिए आगे आने के लिए ये सही वक्त है”।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद डीविलियर्स के साथी खिलाड़ियों ने भी जमकर तारीफ की। किसी ने उन्हें मौजूदा दौर का सबसे श्रेष्ठ बल्लेबाज बताया तो किसी ने खेल का सबसे बड़ा एंटरटेनर। मगर विराट कोहली ने उनके संन्यास पर कुछ नहीं बोला था।

अब कोहली ने भी डीविलियर्स के संन्यास पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए ट्विटर पर लिखा कि, “आप जिंदगी में आगे जो भी करें, उसके लिए मेरी शुभकामनाएं भाई। आपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बल्लेबाजी को पूरी तरह बदल दिया। आपके और परिवार के लिए मेरी शुभकामनाएं”।

विराट से पहले अनुष्का ने भी एबी डीविलियर्स को ट्वीट करके शुभकामनाएं दी थीं। इसके अलावा सचिन तेंडुलकर ने संन्यास के बाद एबी डीविलियर्स को शुभकामनाएं देते हुए लिखा था कि, “जैसे आपने मैदान पर 360 डिग्री कामयाबी हासिल की, वैसे ही आप मैदान के बाहर भी करें। आपकी कमी हमेशा महसूस होगी। मेरी शुभकामनाएं हमेशा आपके साथ हैं”।

इसके अलावा उनके पुराने साथी और इस आईपीएल सीजन में केकेआर के हेड कोच रहे जैक कालिस ने भी एबी को महान बल्लेबाज बताया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि, “शानदार करियर के लिए शुभकामनाएं। अपने परिवार के साथ अतिरिक्त समय बिताएं। आपको युवा खिलाड़ी के तौर पर और बाद में दुनिया के श्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक बनते देखना, वाकई शानदार रहा”।

संन्यास से पहले एबी डीविलियर्स आईपीएल 2018 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की तरफ से खेलते नजर आए थे। इस सीजन में आरसीबी को एबी डीविलियर्स ने कई मैच जिताए। पूरे सीजन में उनका बल्ला जमकर बोला। एबी डीविलियर्स ने इस सीजन में 11 मैच में 480 रन बनाए। इस दौरान डीविलियर्स ने 30 छक्के जड़े। वहीं उनका औसत 53 से ज्यादा का रहा। वहीं स्ट्राइक रेट के मामले में वो टॉप टेन बल्लेबाजों में सबसे ऊपर रहे। उनका स्ट्राइक रेट 174 से ऊपर रहा।

ऐसा रहा डीविलियर्स का करियर

एबी डीविलियर्स ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ की थी। इसके बाद एबी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। रोज नई इबारतें गढ़ते दिए और क्रिकेट की दुनिया में उनका कद बढ़ता ही गया। उनके रिकॉर्ड इसकी कहानी कहते हैं। एबी डीविलियर्स ने टेस्ट में 8765, वनडे में 9577 और T20I में 1672 रन उनके नाम दर्ज हैं।

डीविलियर्स वनडे के साथ ही टेस्ट में भी अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे। उन्होंने अपना पहला दोहरा शतक भारत के खिलाफ 2008 में ठोका था। इसके दो साल बाद भी एबी ने पाकिस्तान के खिलाफ अबू धाबी में हुए टेस्ट मैच में अपने करियर की सबसे बड़ी पारी खेलकर इतिहास रच दिया था। उस मैच में डीविलियर्स ने 278 रन बनाए थे।

 

 

You May Also Like

English News