डॉक्टर कफ़ील के भाई पर जानलेवा हमला

बाबा रघुवर दास मेडिकल कॉलेल (BRD) के ससपेंड हुए और हाल ही में गोरखपुर ऑक्सीजन खत्म होने पर बच्चों की मौत के मामले में जेल से हाल ही में रिहा हुए डॉक्टर कफ़ील के भाई को बीती रात करीब 9 बजे अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी. इस हमले में हालाँकि कफ़ील के भाई काशिफ जमाल को गोली लगी लेकिन वो बाल-बाल बच गए.बाबा रघुवर दास मेडिकल कॉलेल (BRD) के ससपेंड हुए और हाल ही में गोरखपुर ऑक्सीजन खत्म होने पर बच्चों की मौत के मामले में जेल से हाल ही में रिहा हुए डॉक्टर कफ़ील के भाई को बीती रात करीब 9 बजे अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी. इस हमले में हालाँकि कफ़ील के भाई काशिफ जमाल को गोली लगी लेकिन वो बाल-बाल बच गए.    बता दें, 10 जून को डॉक्टर कफ़ील के भाई, काशिफ जिसकी उम्र 34 साल है उनको अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी, गोली लगने के तुरंत बाद काशिफ को हॉस्पिटल ले जाया गया, जहाँ पर डॉक्टर कफ़ील मौजूद थे. काशिफ को 3 गोलियां लगी, जिसके बाद डॉक्टरों ने बताया कि वो अभी खतरे से बाहर है. काशिफ प्रॉपर्टी डीलर का काम करते है.     हमला गोरखपुर के दुर्गाबाड़ी में हुआ जहाँ काशिफ रात को करीब 9 बजे अपने घर लौट रहे थे तभी स्कूटी सवार कुछ लोग आये और फायरिंग कर दी. घटना के बाद आसपास के इलाकों में दशहत का माहौल है. कफ़ील अपने भाई को स्टार हॉस्पिटल ले गए. शुरुआत में इलाज में लेट होने के कारण कफ़ील की सरकारी हॉस्पिटल के डॉक्टरों से नोक-झोंक हुई थी.

बता दें, 10 जून को डॉक्टर कफ़ील के भाई, काशिफ जिसकी उम्र 34 साल है उनको अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी, गोली लगने के तुरंत बाद काशिफ को हॉस्पिटल ले जाया गया, जहाँ पर डॉक्टर कफ़ील मौजूद थे. काशिफ को 3 गोलियां लगी, जिसके बाद डॉक्टरों ने बताया कि वो अभी खतरे से बाहर है. काशिफ प्रॉपर्टी डीलर का काम करते है. 

हमला गोरखपुर के दुर्गाबाड़ी में हुआ जहाँ काशिफ रात को करीब 9 बजे अपने घर लौट रहे थे तभी स्कूटी सवार कुछ लोग आये और फायरिंग कर दी. घटना के बाद आसपास के इलाकों में दशहत का माहौल है. कफ़ील अपने भाई को स्टार हॉस्पिटल ले गए. शुरुआत में इलाज में लेट होने के कारण कफ़ील की सरकारी हॉस्पिटल के डॉक्टरों से नोक-झोंक हुई थी.

You May Also Like

English News