‘डोकलाम में भारत के पास बस 3 ऑप्शन- पीछे हटे, कब्जा करे या फिर मारा जाए’

एक महीने से ज्यादा समय तक सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम में जारी सैन्य गतिरोध पर चीन के पूर्व राजदूत ने कहा है कि भारत के पास अब सिर्फ तीन विकल्प बचे हैं. पहला ये है कि भारत डोकलाम से पीछे हट जाए, कब्जा कर ले या फिर चीन हमला कर दे.

'डोकलाम में भारत के पास बस 3 ऑप्शन- पीछे हटे, कब्जा करे या फिर मारा जाए'

मुंबई में कांसुल जनरल रह चुके पूर्व चीनी डिप्लोमेट ने बुधवार को सरकारी मीडिया से इंटरव्यू में यह बातें कही. पूर्व डिप्लोमेट का यह बयान बताता है कि बीजिंग डोकलाम पर अपनी तीखी बयानबाजी से बाज नहीं आने वाला है. साथ ही डोकलाम में गतिरोध पर चीन द्वारा सैन्य प्रयोग की धमकी भरे रवैये को दर्शाता है.

चीन लगातार इस बात पर जोर दे रहा है कि भारतीय सैनिकों के अपनी सीमा में वापस लौटने तक किसी तरह की कोई बातचीत नहीं होगी. पूर्व कांसुल जनरल रह चुके लियू योउफा अब स्ट्रैटजिक एक्सपर्ट के तौर पर काम करते हैं.

योउफा ने सरकारी मीडिया चाइना सेंट्रल टेलीविजन के अंग्रेजी चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘बॉर्डर पर वर्दी में खड़े लोग जब दूसरे देश की सीमा में प्रवेश कर जाते हैं, तो स्वभाविक तौर पर दुश्मन बन जाते हैं और उन्हें इसकी कीमत चुकानी होगी.’

 

You May Also Like

English News