डोनाल्ड ट्रंप ने दी जापान धमकी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जापान को एक बहुत बड़ी धमकी दी है. इस धमकी में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे को सम्बोधित करते हुए कहा है कि वह  मैक्सिको के 2.5 करोड़ लोग उनके देश वापस भेज देंगे. जिसके बाद उन दोनों के वबीच रिश्ते काफी गर्मा गए है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जापान को एक बहुत बड़ी धमकी दी है. इस धमकी में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे को सम्बोधित करते हुए कहा है कि वह  मैक्सिको के 2.5 करोड़ लोग उनके देश वापस भेज देंगे. जिसके बाद उन दोनों के वबीच रिश्ते काफी गर्मा गए है.      एक समाचार पत्र के अनुसार हाल ही में जी 7 शिखर सम्मेलन के दौरान राष्ट्राध्यक्षों के बीच व्यापार, आतंकवाद और आव्रजन जैसे मुद्दों पर बातचीत हुई थी, जिस पर सभी की राय अलग अलग रही. यहाँ के यूरोपीय यूनियन के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि, बैठक में आव्रजन पर बातचीत के दौरान एक समय ऐसा भी आया जब ट्रंप ने विस्थापन को यूरोप के लिए बड़ी मुसीबत बताया और आबे से कहा, ‘‘शिंजो आपके पास यह समस्या नहीं है मैं 2.5 करोड़ मैक्सिकन आपके देश भेज देता हूं और जल्द ही आप अपदस्थ हो जाएंगे.’’     इन सब के अलावा ज्ञात सूत्र ने बताया कि जब बात ईरान और आतंकवाद पर शुरू हुई तो राष्ट्रपति ट्रंप ने फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘एमैनुएल तुम्हें इसके बारे में जरूर पता होगा क्योंकि सारे आंतकवादी पेरिस में ही है.’’ यहाँ पर राष्ट्रपति ट्रंप के जी 7 संयुक्त बयान से असहमति जताने के बाद यह बैठक निराशाजनक रही थी.

एक समाचार पत्र के अनुसार हाल ही में जी 7 शिखर सम्मेलन के दौरान राष्ट्राध्यक्षों के बीच व्यापार, आतंकवाद और आव्रजन जैसे मुद्दों पर बातचीत हुई थी, जिस पर सभी की राय अलग अलग रही. यहाँ के यूरोपीय यूनियन के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि, बैठक में आव्रजन पर बातचीत के दौरान एक समय ऐसा भी आया जब ट्रंप ने विस्थापन को यूरोप के लिए बड़ी मुसीबत बताया और आबे से कहा, ‘‘शिंजो आपके पास यह समस्या नहीं है मैं 2.5 करोड़ मैक्सिकन आपके देश भेज देता हूं और जल्द ही आप अपदस्थ हो जाएंगे.’’

इन सब के अलावा ज्ञात सूत्र ने बताया कि जब बात ईरान और आतंकवाद पर शुरू हुई तो राष्ट्रपति ट्रंप ने फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘एमैनुएल तुम्हें इसके बारे में जरूर पता होगा क्योंकि सारे आंतकवादी पेरिस में ही है.’’ यहाँ पर राष्ट्रपति ट्रंप के जी 7 संयुक्त बयान से असहमति जताने के बाद यह बैठक निराशाजनक रही थी.

You May Also Like

English News