तारतार हुई इंसानियत ! महिला भिखारी की कार सवार लोगों ने रात भर लूटी अस्मत

लखनऊ: अब यूपी में भीखारियों की भी जान खतरे में है। उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में बुधवार की देर रात कार सवार लोगों ने एक महिला भिखारी को रूपये देने के लिए पास बुलाया और फिर उसको जबरन कार मेें घसीट लिया। महिला का आरोप है कि कार सवार लोगों ने रात भर चलती कार में उसके साथ गैंगरेप किया और गुरुवार सुबह उसे दिल्ली- देहरादून हाईवे पर बागपत फ्लाईओवर के पास फेंक गए। पुलिस ने पीडि़ता का मेडिकल कराकर बयान दर्ज कराए हैं और आरोपियों की तलाश में जुटी गयी है।


एसएसपी मेरठ जे.रवीन्द्र गौड़ ने बताया कि मेरठ के पल्लवपुरम निवासी एक व्यक्ति कुछ दिन पहले दुर्घटना में अपाहिज हो गया। इसके बाद मजबूरी में उसकी पत्नी ने कई घरों में बर्तन मांजने का काम शुरू कर दिया। बावजूद इसके महिला के पास इलाज व दवा का खर्च नहीं जुटा पा रही थी। छह बच्चों समेत आठ लोगों का पेट भरने के लिए महिला ने भीख मांगनी शुरू कर दी थी।

42 वर्षीय महिला ने पुलिस को बताया कि बुधवार रात आठ बजे वह बेगमपुल पर भीख मांग रही थी। इस बीच बेगमपुल पुलिस चौकी से कुछ दूर एक कार रुकी तो वह भीख मांगने पहुंच गयी। कार सवारों ने उसे 100 रुपये दिए और अंदर खींच लिया। कनपटी पर तमंचा लगाकर जान से मारने की धमकी देकर रात भर कार में ही शहर और आसपास के क्षेत्र में घुमा.घुमाकर गैंगरेप किया। गुरुवार सुबह उसे कार से बाहर फेंक दिया।

एसएसपी जे रविंदर गौड़ का कहना है कि महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस की दो टीमों को अपराधियों की तलाश में लगा दिया है।

You May Also Like

English News