तीनों फॉर्मेट में सीरीज जीतकर इतिहास रच सकते हैं कप्तान कोहली

नई दिल्ली: भारत और इंग्लैंड के बीच टी-20 सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच आज शाम बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में होगा। सीरीज में दोनों टीमें फिलहाल 1-1 की बराबरी पर है।

तीनों फॉर्मेट में सीरीज जीतकर इतिहास रच सकते हैं कप्तान कोहली

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत का पलड़ा भारी, लेकिन कंगारूओं को आंकना गलती होगी

भारत जहां इस मैच को जीतकर इंग्लैंड से पहली बार टी-20 सीरीज जीतना चाहेगा, वहीं इंडिया टूर पर टेस्ट और वनडे सीरीज गंवा चुकी इंग्लैंड की टीम इस मैच को जीतकर टी-20 अपने नाम करना चाहेगी। भारत के पास इस मैच को जीतकर इंग्लैंड के खिलाफ पहली टी-20 सीरीज जीतने का मौका है। इंग्लैंड के खिलाफ भारत अबतक एक भी टी-20 सीरीज नहीं जीत सका है।
 
दोनों टीमों के बीच अबतक चार टी-20 सीरीज हो चुकी हैं, जिसमें से तीन सीरीज इंग्लैंड ने जीती जबकि एक सीरीज ड्रॉ रही थी। सबसे पहली सीरीज अगस्त 2011 में इंग्लैंड में हुई थी। एक मैच की इस टी-20 सीरीज को इंग्लैंड ने जीत लिया था। अक्टूबर 2011 में दोनों टीमों के बीच भारत में सीरीज का एकमात्र टी-20 मैच खेला गया। 
 
दोनों टीमों के बीच दिसंबर 2012 में हुई दो मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 से बराबर रही थी। वहीं सितंबर 2014 में खेला गया एकमात्र टी-20 मैच भी इंग्लैंड ने जीत लिया था।
 
हर हाल में बनाएंगे रिकॉर्ड
विराट कोहली की कप्तानी में अगर टीम इंडिया आज का मैच जीत जाती है तो ये पहली बार होगा जब भारत, इंग्लैंड से टी-20 सीरीज जीतेगा। वहीं अगर भारत ये मैच हार भी जाता है तो ये भी पहली बार होगा जब विराट की कप्तानी में टीम इंडिया अपने घरेलू मैदान पर कोई सीरीज हारेगा। इस मैच को जीतते ही विराट भारत के पहले ऐसे कप्तान बन जाएंगे, जिन्होंने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में अपनी कप्तानी की पहली सीरीज जीती हो।
 
भारत को मिली एक जीत, एक हार
बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में भारत ने अबतक दो टी-20 मैच खेले हैं जिसमें से एक में उसे जीत और एक में हार मिली है। टीम इंडिया दिसंबर 2012 में पाकिस्तान के हाथों यहां 5 विकेट से हारी थी। वहीं मार्च 2016 में भारत ने बांग्लादेश को 1 रन से हराया था। इस ग्राउंड पर बना हाइएस्ट टोटल 157/7 रन है, जो ऑस्ट्रेलिया ने बांग्लादेश के खिलाफ बनाया था।
 
भारत का इस ग्राउंड पर हाइएस्ट टोटल 146/7 रन है। जो उसने बांग्लादेश के खिलाफ बनाया था। इस ग्राउंड पर बना सबसे कम स्कोर का रिकॉर्ड श्रीलंका (122/9 रन) के नाम पर है। इस ग्राउंड पर अबतक कुल 4 टी-20 मैच हुए हैं, जिनमें से तीन में बाद में बैटिंग करने वाली टीम जीती है।
 
बैटिंग पिच पर खूब बनेंगे रन
बेंगलुरु स्टेडियम के पिच क्यूरेटर के. श्रीराम के मुताबिक यहां होने वाला ये डे-नाइट मुकाबला हाई स्कोरिंग होगा।
 श्रीराम का कहना है कि पिच को अच्छी तरह से रोल किया गया है जिससे बॉल अच्छी तरह बैट पर आएगी और यहां आराम से 170 तक स्कोर बन सकता है।
 
बता दें कि चिन्नास्वामी स्टेडियम की गिनती दुनिया के छोटे क्रिकेट ग्राउंड में होती है जिसकी वजह से यहां खूब रन बनते हैं।
ग्राउंड रिकॉर्ड के अनुसार यहां बाद में खेलने वाली टीम ज्यादा जीती है, इसलिए जो भी कप्तान टॉस जीतेगा वो पहले बॉलिंग करना पसंद करेगा।

You May Also Like

English News