तीन साल की मासूम बच्ची को और 100 करोड़ की संपत्ति छोड़, पति-पत्नी ने लिया संन्यास का फैसला

मध्यप्रदेश में एक दंपत्ति ने 100 करोड़ की प्रॉपर्टी और अपनी तीन साल की मासूम बच्ची को छोड़कर संन्यास लेने का फैसला किया है। मामला नीमच का है, जहां एक जैन जोड़े ने संन्यास लेने का फैसला किया है। 35 साल के सुमित राठौड़ और 34 साल की उनकी पत्नी अनामिका 23 सितंबर को गुजरात के सूरत में शुद्धमार्गी जैन आचार्य रामलाल महाराज के दीक्षा लेंगे। तीन साल की मासूम बच्ची को और 100 करोड़ की संपत्ति छोड़, पति-पत्नी ने लिया संन्यास का फैसलाअपने जन्मदिन के अवसर पर PM मोदी ने इस सुपर स्टार को खत लिखकर की ये गुजारिश…

सुमित राठौड़ ने लंदन के कॉलेज से पढ़ाई की है, और फिलहाल 100 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं।

वहीं राठौड़ की पत्नी अनामिका इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं और मल्टीनेशनल कंपनी में काम कर चुकी हैं। पति-पत्नी के इस फैसले की खबर पूरे इलाके में फैल चुकी है। हर कोई इस बात से हौरान है कि उन्होंने ये फैसला क्यों लिया, लेकिन बड़ा सवाल ये हैं कि दोनों के संन्यास लेने के बाद उनकी बच्ची का क्या होगा। 

इस सवाल पर अनामिका के पिता अशोक चांदलिया का कहना है कि वह अपनी नातिन का ख्याल रख सकता हूं। उन्होंने कहा कि दोनों ने जो फैसला लिया है, उसे कोई नहीं बदल सकता है। वैसे भी किसी के धार्मिक फैसले पर रोक लगाना सही नहीं है। 

वहीं सुमित राठौड़ के पिता ने भी अपने बेटे और बहू के फैसले को मंजूरी दे दी है। हालांकि राठौड़ और अनामिका के फैसले से घर वालों का ज्यादा आश्चर्य नहीं हुआ। क्योंकि उन्होंने इससे पहले भी संन्यास लेने की इच्छा जाहिर की थी। उस वक्त उनकी बेटी मात्र 8 महीने की थी। 

loading...

You May Also Like

English News