तीन साल बाद 1767 लोगों को मिला जनधन इश्योरेंस का फायदा…

सरकार की प्रमुख वित्तीय समावेशी योजना प्रधानमंत्री जनधन योजना पीएमजेडीवाई के तहत रूपे कार्डधारकों के 1,767 दुर्घटना बीमा दावों का निपटान किया गया. वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पीएमजेडीवाई के तहत 2,514 दुर्घटना बीमा दावे आयें. इस योजना के तहत एक लाख रुपये का दुर्घटना बीमा उपलब्ध कराया गया है. योजना अगस्त 2014 में शुरू की गयी. कुल दावों में 1,767 के मामले में इस साल चार अगस्त तक भुगतान कर दिये गये. वहीं 144 को लेकर प्रक्रिया जारी है जबकि 544 दावों को खारिज कर दिया गया. आंकड़ों के अनुसार 36 दावों के मामले में भुगतान की अभी प्रतीक्षा है.

तीन साल बाद 1767 लोगों को मिला जनधन इश्योरेंस का फायदा...

पीएमजेडीवाई खाताधारकों को 30,000 रुपये का जीवन बीमा भी उपलब्ध कराता है. इस श्रेणी में चार अगस्त तक 4,165 दावों का निपटान किया गया. आंकड़ों के अनुसार 577 दावों को खारिज किया गया जबकि 10 के मामले में प्रक्रिया जारी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को वित्तीय समावेशी योजना की घोषणा की थी. पीएमजेडीवाई 28 अगस्त को देश भर में शुरू की गयी थी. योजना के तहत 29.48 करोड़ खाताधारक हैं. इसमें से करीब 22.7 करोड़ लोगों को रूपे कार्ड जारी किये गये हैं. 

गौरतलब है कि आजतक डॉट इन ने अपनी स्टोरी में लिखा था कि अपने पहले भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री जन-धन योजना का ऐलान करते हुए कहा था कि इस योजना के तहत देश में गरीब जनता का डेबिट कार्ड बनाया जाएगा और साथ ही प्रति परिवार को 1 लाख रुपये का जीवन बीमा दिया जाएगा.

इस योजना से एक गरीब परिवार इस जनधन खाते से जरूरत पड़ने पर पैसा निकाल सकता है. इस कार्यक्रम को बीते साल के दौरान आगे बढ़ाया गया है और बड़ी संख्या में जनधन खाते खोले गए हैं लेकिन इस योजना का फायदा उठाने के लिए गरीब परिवार अब भी इंतजार कर रहा है. लिहाजा, अब वित्त मंत्रालय द्वारा जारी ये आंकड़े बता रहे हैं कि आखिरकार जनधन योजना के तहत आजादी के इस पावन पर्व से कुछ दिन पहले ‘मोदी इंश्योरेंस’ का फायदा मिल गया है.

You May Also Like

English News