तेजस्वी का नीतीश कुमार से तीखा सवाल

बिहार नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से तीखा सवाल किया है कि नीतीश चाचा जी, बताईए-मौत किसे कहते हैं? सांसों का थम जाना मौत नहीं है, मौत है संवेदनाओं का मर जाना. इसलिए अपनी अंतरात्मा को झिंझोड़िए उसे जगाइए, ताकि किसी बेबस बाप को अपनी पत्नी और बेटी, किसी भाई को अपनी बहन का बलात्कार न देखना पडे़.बिहार नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से तीखा सवाल किया है कि नीतीश चाचा जी, बताईए-मौत किसे कहते हैं? सांसों का थम जाना मौत नहीं है, मौत है संवेदनाओं का मर जाना. इसलिए अपनी अंतरात्मा को झिंझोड़िए उसे जगाइए, ताकि किसी बेबस बाप को अपनी पत्नी और बेटी, किसी भाई को अपनी बहन का बलात्कार न देखना पडे़.    बता दें कि तेजस्वी यादव ने यह कठोर टिप्पणी उस बलात्कार की घटना के संदर्भ में की जिसमें गया में एक पिता को पेड़ से बांधकर बेखौफ अपराधियों ने उसके सामने उसकी बेटी और पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म किया था.इस घटना को लेकर तेजस्वी ने अपने ट्वीट में बिहार में बढ़ती अपराध की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार में हर महीने 98 बलात्कार,233 मर्डर,725 अपहरण, विगत 6 महीनो में 600 बलात्कार यानी पिछले दिनों में कुल 20,120 अपराध की घटनाएं हुई है. फिर भी सुशासन का राग अलापा जा रहा है .       गौरतलब है कि गया में बुधवार को एक पिता को पेड़ से बांधकर बदमाशों ने उसके सामने ही उसकी बेटी और पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म किया था . ये अपराधी आराम से घंटो इस निंदनीय घटना को अंजाम देते रहे, पीड़िता चीखती चिल्लाती रही लेकिन उनकी मदद को कोई सामने नहीं आ सका था.इस घटना से पूरे बिहार में गुस्सा है . प्रमुख विपक्षी दल बिहार सरकार और पुलिस-प्रशासन पर लगातार आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं. लेकिन सरकार मौन है.

बता दें कि तेजस्वी यादव ने यह कठोर टिप्पणी उस बलात्कार की घटना के संदर्भ में की जिसमें गया में एक पिता को पेड़ से बांधकर बेखौफ अपराधियों ने उसके सामने उसकी बेटी और पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म किया था.इस घटना को लेकर तेजस्वी ने अपने ट्वीट में बिहार में बढ़ती अपराध की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार में हर महीने 98 बलात्कार,233 मर्डर,725 अपहरण, विगत 6 महीनो में 600 बलात्कार यानी पिछले दिनों में कुल 20,120 अपराध की घटनाएं हुई है. फिर भी सुशासन का राग अलापा जा रहा है .

गौरतलब है कि गया में बुधवार को एक पिता को पेड़ से बांधकर बदमाशों ने उसके सामने ही उसकी बेटी और पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म किया था . ये अपराधी आराम से घंटो इस निंदनीय घटना को अंजाम देते रहे, पीड़िता चीखती चिल्लाती रही लेकिन उनकी मदद को कोई सामने नहीं आ सका था.इस घटना से पूरे बिहार में गुस्सा है . प्रमुख विपक्षी दल बिहार सरकार और पुलिस-प्रशासन पर लगातार आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं. लेकिन सरकार मौन है.

You May Also Like

English News