अखिलेश यादव का यह बड़ा फैसला, तोड़ देगा समाजवादी पार्टी

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के रजत जयंती समारोह में प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने जिस सैयद जावेद अब्बास आब्दी को धक्का देकर पोडियम से हटाया था, उन्हें अब मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सिंचाई विभाग का सलाहकार नामित किया है।

समाजवादी पार्टी

बड़ी खबर: नोटबंदी पर बिफरा सुप्रीम कोर्ट, मोदी सरकार में मचा हड़कंप

प्रमुख सचिव सिंचाई द्वारा जावेद की नियुक्ति संबंधी आदेश जारी कर दिया गया है। शिया समुदाय की नुमाइंदगी करने वाले व अमरोहा निवासी सैयद जावेद अब्बास आब्दी को समाजवादी सरकार के सत्तारूढ़ होने के कुछ अरसे बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का अध्यक्ष नियुक्त किया था।

 
कुछ दिनों के अंदर पार्टी नेताओं ने आब्दी की कार्यप्रणाली का चिट्ठा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को सौंपा तो उन्हें पद गंवाना पड़ा।
 
हालांकि थोड़े समय बाद ही उन्हें रिमोट सेंसिंग में नामित कर दिया गया था। पांच नवंबर को लखनऊ में सपा की रजत जयंती समारोह में आब्दी के भाषण पर मुलायम सिंह यादव ने नाराजगी का इशारा किया तो शिवपाल ने उनसे माइक छीनकर पोडियम से धक्का दे दिया था।

नोटबंदी पर फिर बोले मनमोहन सिंह, हिला दी देश की राजनीति

एक माह गुजरने के बाद मुख्यमंत्री ने आब्दी को सिंचाई जैसे बड़े विभाग का सलाहकार नियुक्त किया है। आब्दी ऐसे समुदाय की नुमाइंदगी करते हैं जिसके कई दिग्गज उलमा लखनऊ में ही रहते हैं। ऐसे में आब्दी की नियुक्ति के ढेरों निहितार्थ निकाले जा रहे हैं।

 

You May Also Like

English News