तो इस वजह से गांगुली नहीं बन सकते BCCI अध्यक्ष

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मौजूदा बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने साफ किया है कि वो बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के दावेदार नहीं हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनुराग ठाकुर को हटाने के बाद से ही कई लोग उन्हें अध्यक्ष पद के लिए प्रबल दावेदार मान रहे थे।तो इस वजह से गांगुली नहीं बन सकते BCCI अध्यक्ष
 बीसीसीआई अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी के सुझाव को खारिज करते हुए गांगुली ने कहा, “मेरा नाम गैरजरूरी रूप से सामने आ रहा है। मैं क्वालीफाई नहीं करता। मैंने बतौर कैब अध्यक्ष सिर्फ एक साल पूरा किया है और दो और साल बचे हैं। मैं इसकी दावेदारी में नहीं हूं।”

हम मानेंगे लोढा समिति की सिफारिशें मगर…

इसके अलावा गांगुली से पूछा गया कि क्यो बंगाल क्रिकेट संघ लोढा समिति की सिफारिशों को लागू करेगा, तो इस पर गांगुली ने कहा कि संघ को सुप्रीम कोर्ट के आदेश मानने ही होंगे।

सिंधु के लिए 2017 की खराब शुरुआत, मारिन ने हराया

उन्‍होंने कहा, “हमारे पदाधिकारियों की बैठक है, जहां हम भविष्य पर फैसला करेंगे।” गांगुली ने कहा कि कैब 22 जनवरी को ईडन गार्डन्स में भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे वनडे के आयोजन के बाद ही आम सभा की विशेष बैठक करेगा।
बता दें कि सौरव गांगुली भारत के सबसे सफल कप्तानों मे गिने जाते हैं। दादा को ‘गॉड ऑफ ऑफसाइड’ भी कहा जाता है।
 

You May Also Like

English News