…तो क्या मुफ्त मोबाइल डाटा के दिन खत्म? कंपनियां कर रही हैं इसकी मांग

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) 21 जुलाई को सभी दूरसंचार कंपनियों के साथ वायस और डाटा शुल्कों के लिए ‘न्यूनतम मूल्य’ पर चर्चा करेगा. कुछ कंपनियां इसकी मांग कर रही हैं.…तो क्या मुफ्त मोबाइल डाटा के दिन खत्म? कंपनियां कर रही हैं इसकी मांग

मौजूदा दूरसंचार कंपनियों का एक वर्ग डाटा और वॉयस कॉल्स के लिए ‘न्यूनतम कीमत’ निर्धारित करने की मांग कर रहा है लेकिन क्रियान्वित करने का मतलब होगा कि बाजार में मुफ्त में दी जा रही सेवाएं समाप्त हो जाएंगी.

ये भी पढ़ें: किसी के भी आंखों में खुशी के आंसू आ जाते हैं, इसीलिए चाहकर भी आंसू नहीं रोक पा रहे थे ‘रोजर फेडरर’

इसके अलावा अभी तक ऑपरेटरों को दरें तय करने की आजादी है और उन्हें किसी प्लान की जानकारी ट्राई को उसे पेश करने से सात दिन पहले देनी होती है. ऐसे में न्यूनतम मूल्य तय होता है तो इस व्यवस्था में भी बदलाव होगा.

ये भी पढ़े: चीनी मीडिया ने दी बड़ी धमकी, कहा- समझौते का सवाल नहीं, भारत को पीछे हटना ही पड़ेगा…

एक अधिकारी ने कहा कि नियामक ऑपरेटरों से दरों पर न्यूनतम फ्लोर मूल्य को लेकर उनकी राय पूछेगा और साथ ही ऑपरेटरों से इस तरह की दर तय करने का गणित भी पूछा जाएगा.

You May Also Like

English News