…तो क्या लंका के कप्तान ने टीम इंडिया पर कर दिया है ‘काला जादू ‘?

भारत की धरती पर 35 साल से जीत को तरसी श्रीलंका की किस्मत बदलने वाली है..? क्या कोलकाता में कदम रखते ही उसके कप्तान दिनेश चांडीमल ने टीम इंडिया पर ‘काला जादू’ कर दिया है..? एक तो लगातार बारिश, उसके बाद श्रीलंका का टॉस जीतना, मैच की पहली ही गेंद पर केएल राहुल का विकेट गिरना, कप्तान कोहली का भी शून्य पर लौट जाना, कहीं ये सारा उसी जादू-टोने का नतीजा तो नहीं, जिन्हें चांडीमल ने पाकिस्तान के खिलाफ आजमाया था..?...तो क्या लंका के कप्तान ने टीम इंडिया पर कर दिया है 'काला जादू '?टेनिस: ATP फाइनल्स के सेमीफाइनल में फेडरर का सामना होगा गॉफिन से…

कोलकाता टेस्ट के तीसरे दिन बर्थडे ब्वॉय है चांडीमल

भारतीय क्रिकेट प्रेमी के मन में इस तरह के सवाल उठने लाजिमी हैं. …क्योंकि चांडीमल खुद दावा कर चुके हैं कि उनकी टीम ने पाकिस्तान के खिलाफ पिछले महीने यूएई में हुए दो टेस्ट मैचों की सीरीज को जादू-टोने की मदद से जीता था. खैर, जो भी हो आज (18 नंवबर) चांडीमल 28 साल के हो गए. कोलकाता टेस्ट के तीसरे दिन वह अपना बर्थडे इस उम्मीद के साथ सेलीब्रेट करेंगे कि भारत में एक भी टेस्ट नहीं जीत पाने का दाग धुल जाए.

चांडीमल से जुड़े जादू-टोने की ये है कहानी

यूएई से कोलंबो लौटने के बाद विजयी कप्तान चांडीमल ने कहा था, ‘मैं किसी से भी आशीर्वाद लेने के लिए हमेशा तैयार रहता हूं, चाहे वे तांत्रिक हो या पादरी. आप प्रतिभावान हो सकते हैं, लेकिन बिना दुआओं के आगे नहीं बढ़ सकते.’

उल्लेखनीय है कि श्रीलंका ने हाल ही में संपन्न टेस्ट सीरीज में पाकिस्तान को 2-0 से हराया था. स्वयं चांडीमल ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पहले मैच में नाबाद 155 रनों की पारी खेली थी, जबकि दूसरे टेस्ट मैच में उन्होंने अर्धशतक (62 रन) बनाया था.

एक रिपोर्ट के मुताबिक चांडीमल ने जिस जादू-टोने वाली की मदद ली थी, वो उनके एक दोस्त की मां हैं. हालांकि इसके बाद 5 वन-डे और 3 टी-20 में श्रीलंका का सूपड़ा साफ हो गया था. लेकिन तब वनडे सीरीज में उपुल थरंगा और टी-20 सीरीज में थिसारा परेरा ने कप्तानी की थी.

जानिए चांडीमल के बारे में-

 1. 21 साल की उम्र में चांडीमल ने श्रीलंका की ओर से इंटरनेशनल डेब्यू किया.

2.अपने दूसरे ही वनडे में चांडीमल ने शतकीय पारी (111रन) खेली.

3.डरबन (दिसंबर 2011) में टेस्ट करियर के अपने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक जमाए. जिससे श्रीलंका ने पहली बार द. अफ्रीका में टेस्ट जीता.

4. 2013 में 23 साल की उम्र में टी-20 में श्रीलंकाई टीम की कमान संभाली. इसके साथ ही श्रीलंका के सबसे कम उम्र के कप्तान बने.

5. 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ हेडिंग्ले टेस्ट में श्रीलंका को मिली यादगार जीत में चांडीमल ने पहली पारी में महत्वपूर्ण 45 रन बनाए और 4 कैच भी लपके.

6. 2015 में भारत पर गॉल टेस्ट श्रीलंका की जीत में चांडीमल ने 169 गेंदों में 162 रनों की नाबाद पारी खेली थी.

7. 2017 में एंजेलो मैथ्यूज की जगह श्रीलंका के टेस्ट कप्तान बनाए गए और यूएई में खेली गई टेस्ट सीरीज में पाकिस्तान पर 2-0 से ऐतिहासिक जीत हासिल की.

8. 42वां टेस्ट खेल रहे चांडीमल ने अब तक 42.46 की औसत से 2930 रन बनाए हैं. जिसमें उनके 9 शतक और 13 अर्धशतक शामिल हैं.

You May Also Like

English News