…तो ये कम करते है जेल में राम रहीम, मिलते हैं सिर्फ 20 रूपये

रेप केस में सजा काट रहे राम रहीम को जेल में सब्जियां उगाने का काम मिला है। साथ ही देखिए कैसे राम रहीम का पूरा दिन गुजरता है। ...तो ये कम करते है जेल में राम रहीम, मिलते हैं सिर्फ 20 रूपये

Big Breaking: यूपी में दर्दनाक सड़क हादसा, दुल्हे सहित 7 की मौत, मचा कोहराम!

करीब 1100 करोड़ रुपए का साम्राज्य खड़ा करने वाला डेरा सच्चा सौदा का प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह कभी ऐशो-आराम की जिंदगी जीता था, आज उसे जेल में आठ घंटे मजदूरी करनी पड़ रही है। इसके बदले में उसे 20 रुपए रोजाना मिल रहे हैं।  

जेल परिसर में राम रहीम को सब्जियां उगाने का काम दिया गया है। राम रहीम द्वारा उगाई गईं सब्जियों को बाहर बेचा नहीं जाएगा, बल्कि उन्हें जेल के मेस में पकाया जाएगा। 

ये भी हैरान करने वाली बात है कि 30 खेल खेलने का दावा करने वाले राम रहीम को जेल प्रशासन ने अनस्किल्ड वर्कर की कैटेगरी में डाला है। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख की गाना गाने, अभिनय करने और अन्य प्रतिभा उन्हें स्किल्ड वर्कर बनाने में काम नहीं आई। 

टीवी और न्यूज पेपर से भी महरूम बाबा

के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जेल में आम कैदियों के लिए हर बैरक में मनोरंजन के लिए टीवी लगा है। वहीं जेल के कैदी यहां की लाइब्रेरी में जाकर न्यूज पेपर भी पढ़ सकते हैं, लेकिन राम रहीम की कोठरी में न तो टीवी है और न ही वहां न्यूज पेपर आता है।

जेल के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर राम रहीम को लाइब्रेरी में भी जाने की इजाजत नहीं है। फिलहाल गुरमीत को जिस कोठरी में जेल प्रशासन ने रखा है, उसके सामने लगे पेड़ों की कटाई छंटाई का काम कर है।

बाबा के पूर्व ड्राइवर खट्टा सिंह के मुताबिक राम रहीम कभी सिरसा स्थित अपने डेरे में सेवन स्टार सुविधाओं का लाभ उठाता था और साध्वियों से रोजाना मालिश कराता था। वही राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में रोजाना सुबह उठने के बाद अपने कमरे की साफ सफाई के साथ शौचालय की भी सफाई करता है।

यह है राम रहीम की दिनचर्या 

रोजाना सुबह करीब छह बजे राम रहीम को उठा दिया जाता है। शौचालय के बाद वह करीब चालीस मिनट अपनी कोठरी के बराबर में खाली पांच सौ गज जमीन पर सैर करता है। जेल अधिकारी के मुताबिक टहलने के बाद वह अपनी कोठरी और शौचालय की साफ सफाई करता है। उसके बाद वह स्नान करता है। तब तक नाश्ते का समय हो जाता है।

नाश्ते में राम रहीम को अलग अलग दिन दलिया, उबला चना, चाय, दूध दिया जाता है। उसके बाद बाबा कोठरी के सामने पेड़ों की कटाई छंटाई करता है। दोपहर को हल्का खाना खाने के बाद गुरमीत अपने काम लग जाता है। दोपहर की चाय के बाद शाम करीब छह बजे गुरमीत राम रहीम की कोठरी में खाना पहुंचा दिया जाता है।

शाम को मां द्वारा दी धार्मिक किताब पढ़ता है 

रात के खाने के बाद राम रहीम अपनी मां द्वारा दी गई धार्मिक किताब पढ़ता है। इस बीच कई बार रात के समय उसे रोते भी देखा गया है। बता दें कि वीरवार को गुरमीत राम रहीम की मां उससे जेल में मिलने गईं थीं। इस बीच मां ने उसे दो धार्मिक किताब सहित दो जोड़ी चप्पल, कपड़े दिए।

You May Also Like

English News