त्रिपुरा : 3 बजे तक लगभग 65% वोटिंग, कई जगह EVM में गड़बड़ी

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में 59 सीटों पर रविवार को वोट डाले जा रहे हैं. यहां सुबह सात बजे ही लोग पोलिंग बूथ पर वोट डालने पहुंच गए. कई बूथ पर मतदाताओं की लंबी कतार लगी हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सुबह ही ट्वीट कर त्रिपुरा के लोगों से अधिक से अधिक मतदान करने की अपील की है. मुख्यमंत्री माणिक सरकार और बीजेपी त्रिपुरा के अध्यक्ष बिप्लब कुमार देब ने भी वोट डाला.त्रिपुरा : 3 बजे तक लगभग 65% वोटिंग, कई जगह EVM में गड़बड़ी

Live अपडेट्स

दोपहर 3 बजे तक लगभग 65 फीसदी वोटिंग.

दोपहर 1 बजे तक लगभग 46 फीसदी वोटिंग हुई.

सुबह 11 बजे 23.25 फीसदी वोट डाले गए.

सुबह 9 बजे 11 फीसदी वोट डाले जा चुके हैं.

दक्षिणी त्रिपुरा में कई ईवीएम काम नहीं कर रहे हैं. अगरतला के बिजय कुमारी स्कूल और हरि गंगा स्कूल में ईवीएम नहीं चल रही है. 

भारतीय जनता पार्टी इन चुनावों में सत्तारूढ़ वाम दल के सामने प्रमुख दावेदार के तौर पर उभर रही है. वाम दल पिछले 25 सालों से राज्य में सत्ता पर काबिज है. 3,214 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक मतदान किया जाएगा.

राज्य विधानसभा की 60 में से 59 सीटों पर चुनाव होने हैं. चरीलम विधानसभा सीट से माकपा के उम्मीदवार रामेंद्र नारायण देब बर्मा की पांच दिन पहले हुई मौत के कारण इस सीट पर चुनाव 12 मार्च को होगा. चुनाव में राजनीतिक दलों की निगाहें अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित 20 सीटों पर हैं. 

चुनाव प्रचार में बीजेपी ने झोंकी ताकत 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राज्य में चार रैलियों को संबोधित किए जाने के साथ ही बीजेपी ने यहां जमकर प्रचार किया है. इस प्रचार में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी और स्मृति ईरानी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे दिग्गज नेता शामिल हुए.

पांचवीं बार मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में शामिल माणिक सरकार ने माकपा के प्रचार अभियान का नेतृत्व करते हुए राज्य में करीब 50 रैलियों को संबोधित किया. सीताराम येचुरी और वृंदा करात जैसे अन्य वामपंथी नेताओं ने भी पार्टी के इस अभियान का समर्थन किया.

हल्का रहा कांग्रेस का चुनाव अभियान

वहीं कांग्रेस का प्रचार अभियान कुछ हल्का रहा. पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रचार के आखिरी दिन उनाकोटी जिले के कैलाशहर में एक रैली को संबोधित किया. इन चुनावों में कुल 307 उम्मीदवार दौड़ में हैं.

57 सीटों पर चुनाव लड़ रही है माकपा

माकपा 57 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि अन्य वामपंथी दल आरएसपी, फॉरवर्ड ब्लॉक और भाकपा ने एक-एक सीट पर उम्मीदवारी दर्ज कराई है. कांग्रेस 59 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. पार्टी ने गोमती जिले के काक्राबोन विधानसभा सीट से किसी भी उम्मीदवार को मैदान में नहीं उतारा है. अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी देबाशीष मोडोक ने बताया कि मतों की गिनती तीन मार्च को होगी.

माकपा ने की चुनाव आयुक्त से मुलाकात

माकपा ने त्रिपुरा विधानसभा चुनाव के लिए एक विशेष पर्यवेक्षक की नियुक्ति किए जाने को ‘‘असामान्य’’ बताया और इस पर्यवेक्षक के साथ बीजेपी की राज्य इकाई के अध्यक्ष की बंद कमरे में हुई बैठक को लेकर आपत्ति जताई.

माकपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत से मुलाकात की और विशेष पर्यवेक्षक की नियुक्ति को लेकर चिंता जाहिर की. पार्टी ने कहा कि यह नियुक्ति एक ‘‘असामान्य कदम’’ है.

You May Also Like

English News