थानेदार को रिश्वत देने के लिए बच्चे ने मांगी भीख

 रिश्वत खोरी के विरोध ओर रिश्वत खोरो को सबक सिखाने का अनोखा तरीका अपनाने का मामला प्रकाश में आया है. बिहार के हाजीपुर कलेक्ट्रेड  में शुक्रवार को एक अजीबोगरीब मामला देखने को मिला. समाहरणालय (कलेक्ट्रेड ) परिसर में एक अनाथ बच्चे ने थानेदार को रिश्वत देने के लिए घूम-घूमकर भीख मांगी. उसके साथ कोर्ट द्वारा नियुक्त बच्चे के संरक्षक भी मौजूद थे. दोनों ने अपने अपने शरीर पर तख्ती लटका रखी थी, जिस पर थानेदार को 10 हजार रिश्वत देने के लिए लोगों से मदद की अपील की गई थी. सुबह 10 बजे से ही दोनों घूम घूमकर सहयोग राशि मांग रहे थे.पटना : रिश्वत खोरी के विरोध ओर रिश्वत खोरो को सबक सिखाने का अनोखा तरीका अपनाने का मामला प्रकाश में आया है. बिहार के हाजीपुर कलेक्ट्रेड  में शुक्रवार को एक अजीबोगरीब मामला देखने को मिला. समाहरणालय (कलेक्ट्रेड ) परिसर में एक अनाथ बच्चे ने थानेदार को रिश्वत देने के लिए घूम-घूमकर भीख मांगी. उसके साथ कोर्ट द्वारा नियुक्त बच्चे के संरक्षक भी मौजूद थे. दोनों ने अपने अपने शरीर पर तख्ती लटका रखी थी, जिस पर थानेदार को 10 हजार रिश्वत देने के लिए लोगों से मदद की अपील की गई थी. सुबह 10 बजे से ही दोनों घूम घूमकर सहयोग राशि मांग रहे थे.   गौरतलब है कि अनाथ बच्चे ने आरोप लगाया है कि उसके दबंग रिश्तेदार उसके नाम की 1 एकड़ 13 डिसमिल जमीन पर कब्ज़ा कर चूके है और इस जमीन पर अवैध निर्माण भी शुरू कर दिया गया है, जिसकी शिकायत थानाध्यक्ष से करने के बावजूद भी निर्माण होता रहा लेकिन कार्रवाई कोई नहीं हुई. अनाथ बच्चे के संरक्षक ने थानेदार पर अवैध निर्माण रोकने के लिए 10 हजार रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है. जिसके बाद बच्चे ने रिश्वत के लिए भीख मांगने का तरीका अपनाया.     बच्चे को भीख मांगते देख कलेक्ट्रेड परिसर में बैठे प्रभारी डीएम सह डीडीसी ने सभी को अपने कार्यालय कक्ष में बुलाया और इस संबंध में जानकारी ली. इसके बाद महुआ एसडीओ, एसडीपीओ और सीओ को आज ही घटनास्थल पर पहुंच जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है. इस पूरे मामले को लेकर प्रभारी डीएम ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वसन पीड़ित बच्चे और उसके संरक्षक महेंद्र राय को दिया. जहा लोग पुलिस का मजाक उड़ा रहे है, वही विरोध के इस अनूठे तरीके पर आश्चर्य भी कर रहे है.  

गौरतलब है कि अनाथ बच्चे ने आरोप लगाया है कि उसके दबंग रिश्तेदार उसके नाम की 1 एकड़ 13 डिसमिल जमीन पर कब्ज़ा कर चूके है और इस जमीन पर अवैध निर्माण भी शुरू कर दिया गया है, जिसकी शिकायत थानाध्यक्ष से करने के बावजूद भी निर्माण होता रहा लेकिन कार्रवाई कोई नहीं हुई. अनाथ बच्चे के संरक्षक ने थानेदार पर अवैध निर्माण रोकने के लिए 10 हजार रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है. जिसके बाद बच्चे ने रिश्वत के लिए भीख मांगने का तरीका अपनाया.

बच्चे को भीख मांगते देख कलेक्ट्रेड परिसर में बैठे प्रभारी डीएम सह डीडीसी ने सभी को अपने कार्यालय कक्ष में बुलाया और इस संबंध में जानकारी ली. इसके बाद महुआ एसडीओ, एसडीपीओ और सीओ को आज ही घटनास्थल पर पहुंच जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है. इस पूरे मामले को लेकर प्रभारी डीएम ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वसन पीड़ित बच्चे और उसके संरक्षक महेंद्र राय को दिया. जहा लोग पुलिस का मजाक उड़ा रहे है, वही विरोध के इस अनूठे तरीके पर आश्चर्य भी कर रहे है. 

You May Also Like

English News