दलितों पर चुप क्यों मोदी? :राहुल गाँधी

SC/ST एक्ट को कमजोर बनाने को लेकर कर्नाटक चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला. राहुल गाँधी ने पीएम से कहा कि अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम को कमजोर बनाए जाने को लेकर पीएम एक भी शब्द नहीं बोलते. राहुल गाँधी ने यह बातें कर्नाटक में अपनी पांचवें चरण की यात्रा के दौरान एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही.SC/ST एक्ट को कमजोर बनाने को लेकर कर्नाटक चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला. राहुल गाँधी ने पीएम से कहा कि अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम को कमजोर बनाए जाने को लेकर पीएम एक भी शब्द नहीं बोलते. राहुल गाँधी ने यह बातें कर्नाटक में अपनी पांचवें चरण की यात्रा के दौरान एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही.  राहुल गांधी ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम को कथित तौर पर कमजोर किये जाने के खिलाफ कल हुए प्रदर्शनों के दौरान देश के उत्तरी भाग में हुई हिंसा की पृष्ठभूमि में यह टिप्पणी की. इस विषय पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ भारत बंद के दौरान हुए प्रदर्शनों ने देश के कई स्थानों पर हिंसक मोड़ ले लिया. इस वजह से नौ लोगों की जान चली गयी और सैकड़ों लोग जख्मी हो गए.  कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ रोहित वेमुला की हत्या हो जाती है. उना( गुजरात) में दलितों को पीटा जाता है लेकिन प्रधानमंत्री इस पर एक शब्द भी नहीं बोलते हैं. दलितों और आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार के मामलों में वृद्धि हुई है और अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति कानून को शिथिल कर दिया गया है. पीएम मोदी ने एक भी शब्द नहीं बोला.’’

राहुल गांधी ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम को कथित तौर पर कमजोर किये जाने के खिलाफ कल हुए प्रदर्शनों के दौरान देश के उत्तरी भाग में हुई हिंसा की पृष्ठभूमि में यह टिप्पणी की. इस विषय पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ भारत बंद के दौरान हुए प्रदर्शनों ने देश के कई स्थानों पर हिंसक मोड़ ले लिया. इस वजह से नौ लोगों की जान चली गयी और सैकड़ों लोग जख्मी हो गए.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ रोहित वेमुला की हत्या हो जाती है. उना( गुजरात) में दलितों को पीटा जाता है लेकिन प्रधानमंत्री इस पर एक शब्द भी नहीं बोलते हैं. दलितों और आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार के मामलों में वृद्धि हुई है और अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति कानून को शिथिल कर दिया गया है. पीएम मोदी ने एक भी शब्द नहीं बोला.’’

You May Also Like

English News