दहेज में नहीं मिली कार तो गर्भवती को दिया तीन तलाक, ससुर ने भी किया दुष्कर्म

सुप्रीम कोर्ट के साथ केंद्र व राज्य सरकार के गंभीर होने के बाद भी तीन तलाक के मामले सामने आ रहे हैं। मेरठ में एक महिला को शौहर ने निकाह के तीन वर्ष बाद कार व रुपया न मिलने पर तलाक दे दिया है। तीन महीना की गर्भवती इस महिला के साथ उसकी दो वर्ष की एक बच्ची भी है। महिला ने अपने ससुर के साथ नंदोई पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। इसका हापुड़ में निकाह हुआ था। एसएसपी मेरठ ने पीडि़ता की शिकायत पर उसके शौहर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।दहेज में नहीं मिली कार तो गर्भवती को दिया तीन तलाक, ससुर ने भी किया दुष्कर्म

मेरठ की एक गर्भवती महिला को तीन तलाक देने का मामला सामने आया है। हापुड़ जिले में ब्याही मेरठ की एक महिला को निकाह के तीन साल बाद पति ने कार और नकदी न मिलने पर तलाक तीन दे दिया। तीन महीने की गर्भवती पीडि़ता के साथ उसकी दो वर्ष की बेटी भी है। पीडि़ता ने अपने ससुर और नन्दोई पर दुष्कर्म के आरोप भी लगाये हैं।

मेरठ के खरखौदा इलाके की बेटी की शादी हापुड़ के पिलखुवा के रिजवान से 4 अक्टूबर 2015 को हुई थी। शादी में कार के बजाय बाइक मिलने से रिजवान शादी के ठीक बाद से ही खफा था। उसने अपनी पत्नी को अपने मायके से दहेज में कार और दो लाख रूपये की नकदी लाने के लिए प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। एक वर्ष बाद महिला ने एक बेटी को जन्म दिया जिसे लेकर भी उसके ससुरालवालों ने तमाम हंगामा किया। कार और नकदी के दहेज की मांग बनी रही।

रिजवान 12 जुलाई को काम के सिलसिले में गुरूग्राम गया हुआ था। पीडि़ता का आरोप है कि इसी दौरान उसके ससुर आस मुहम्मद ने उसे घर के कमरे में जबरन बंद करके उसके साथ दुष्कर्म किया। 14 जुलाई को उसकी सास ने अपनी बेटी के पति को फोन करके बुलाया और उसके साथ कमरे में बंद कर दिया। नन्दोई ने जब उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया तो उसने उसके हाथ जोड़कर यह भी कहा कि वह तीन महीने की गर्भवती है, लेकिन नहीं माना। उसने भी पीडि़ता के साथ दुष्कर्म किया।

पीडि़ता का पति 17 जुलाई को वापस आया तो पीडि़ता कमरे में भूखी-प्यासी बंद थी। पीडि़ता ने जब रिजवान को ससुर और नन्दोई की करतूत बताई तो पति ने उसकी जमकर पिटाई की और उसे जान से मारने की नीयत से उसका गला दबा दिया। इसके बाद उसकी सास के उकसाने पर रिजवान ने उसे तीन तलाक दे दिया और कार में बिठाकर जबरन उसकी बेटी समेत उसे खरखौदा छोड़ गया।

पीडि़ता अपने परिवार के लोगों के साथ खरखौंदा थाने पहुंची और पति समेत उसके साथ दरिंदगी करने वाले ससुर और नन्दोई समेत ससुरालवालों के खिलाफ केस दर्ज कराया। मेरठ के एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम को भेजा गया है। इनके खिलाफ दहेज एक्ट के साथ प्रताडऩा का मामला दर्ज किया गया है। जल्द ही सभी आरोपी जेल की सलाखों के पीछे होंगे। 

You May Also Like

English News