दिल्ली में जेएनयू छात्र उमर खालिद पर जानलेवा हमला, फायरिंग में बाल-बाल बचे

दिल्ली स्थित कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया के बाहर जेएनयू छात्र उमर खालिद पर फायरिंग की गई है। फायरिंग करने वाले व्यक्ति की अभी पहचान नहीं हो सकी है। मौके से पुलिस को एक पिस्टल बरामद हुई है। आशंका है कि इसी पिस्टल से उमर खालिद पर फायरिंग की गई थी।

उमर खालिद पर अचानक हुई फायरिंग से कांस्टीट्यूशन क्लब के बाहर अफरा-तफरी मच गई है। फायरिंग की सूचना मिलते ही पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई है। पुलिस ने मौके से पिस्टल जब्त कर ली है। साथ ही फायरिंग करने वाले शख्स की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि उमर खालिद पूरी तरह सुरक्षित हैं।

कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया में सोमवार दोपहर ढाई बजे से ‘ख़ौफ से आजादी’ विषय पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण, सांसद मनोज झा, डीयू प्रोफेसर अपूर्वानंद, पूर्वी आईजी एसआर दारापुरी समेत कई वरिष्ठ पत्रकारों को शामिल होना था।

उमर खालिद के साथ मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि उमर खालिद हमारे साथ थे। हम लोग एक चाय की दुकान पर खड़े थे। तभी सफेद शर्ट पहने एक व्यक्ति वहां पहुंचा। उसने उमर खालिद को धक्का दिया और उस पर गोली चला दी। धक्का दिए जाने से खालिद का संतुलन बिगड़ गया और वह नीचे गिर पड़े। इस वजह से वह बच गए और गोली उन्हें नहीं लगी। हमने हमलावर को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन उसने हवाई फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान उसके हाथ से पिस्टल फिसलकर गिर गई और वह भाग निकला।

You May Also Like

English News