देर रात भूकंप के झटको से हिला उत्तरभारत, उत्तराखंड में था केंद्र

दिल्‍ली-एनसीआर में सोमवार की रात 10:30 के आसपास भूकंप के हल्‍के झटके महसूस किए गए। हालांकि भूकंप की तीव्रता का तुरंत पता नहीं चल सका लेकिन लोग डर जरूर गए

देर रात भूकंप के झटको से हिला उत्तरभारत, उत्तराखंड में था केंद्र

दिल्‍ली में कुछ दफ्तरों में बैठे लोगों ने भी यह झटके महसूस किए। दिल्‍ली के अलावा उत्तराखंड और चंडीगढ़ में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्‍टर स्‍केल पर भूकंप की तीव्रता 6 आंकी गई। मथुरा, सहारनपुर, शामली और चंडीगढ़ में भी महसूस किए गए भूकंप के झटके।

भूकंप के दौरान सतर्कता से जुड़ी कुछ जरूरी बातें:

अगर आप किसी इमारत के अंदर हैं तो फर्श पर बैठ जाएं और किसी मजबूत फर्नीचर के नीचे चले जाएं। यदि कोई मेज या ऐसा फर्नीचर न हो तो अपने चेहरे और सर को हाथों से ढंक लें और कमरे के किसी कोने में दुबककर बैठ जाएं।

अगर आप इमारत से बाहर हैं तो इमारत, पेड़, खंभे और तारों से दूर हट जाएं। अगर आप किसी वाहन में सफर कर रहे हैं तो जितनी जल्दी हो सके वाहन रोक दें और वाहन के अंदर ही बैठे रहें।

अगर आप मलबे के ढेर में दब गए हैं तो माचिस कभी न जलाएं, न तो हिलें और न ही किसी चीज को धक्का दें। मलबे में दबे होने की स्थिति में किसी पाइप या दीवार पर हल्के-हल्के थपथपाएं, जिससे कि बचावकर्मी आपकी स्थिति समझ सकें।

अगर आपके पास कोई सीटी हो तो उसे बजाएं। कोई चारा न होने की स्थिति में ही शोर मचाएं. शोर मचाने से आपकी सांसों में दमघोंटू धूल और गर्द जा सकती है. अपने घर में हमेशा आपदा राहत किट तैयार रखें।

 
 

You May Also Like

English News