देखे फैन की दीवानगी: मोदी चाय की काट ‘राहुल मिल्क’ और ‘राहुल चाय’

2014 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर भाजपा ने मतदाताओं को लुभाने के लिए ‘चाय पर चर्चा’ कैंपन से देशभर में चर्चा बटोरी थी। वहीं गोरखपुर के 30 वर्षीय कांग्रेस नेता ने ‘राहुल मिल्क’ और राहुल हर्बल चाय’ के जरिए मोदी के ‘चाय पर चर्चा’ कैंपेन का तोड़ निकाल लिया है। और इसे मोदी की चाय की काट के रूप में प्रदर्शित किया जा रहा है। देखे फैन की दीवानगी: मोदी चाय की काट 'राहुल मिल्क' और 'राहुल चाय'

#बड़ी खबर: CM योगी उत्तर प्रदेशकी इस योजना का उन्नाव से करेंगे शुभारंभ

दरअसल राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से अनवर हुसैन बेहद खुश हैं। उन्होंने कहा कि ‘बीते कुछ सालों में हमने राहुल को ब्रांड के तौर पर दिखाने की कोशिश की है। मैंने उनसे मुलाकात भी की और उन्होंने मुझसे कहा कि कांग्रेस पार्टी में मेरे जैसे युवा नेताओं की ही जरुरत है।’देखे फैन की दीवानगी: मोदी चाय की काट 'राहुल मिल्क' और 'राहुल चाय'उन्होंने आगे कहा ‘राहुल ने एक छात्र नेता के तौर पर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी जो कि अब देश के एक पॉपुलर नेता हैं। मेरा मकसद ज्यादा से ज्यादा महिलाओं और पुरुषों को पार्टी में शामिल करना है।’देखे फैन की दीवानगी: मोदी चाय की काट 'राहुल मिल्क' और 'राहुल चाय'बता दें कि अनवर ने राहुल के व्यक्तित्व से प्रभावित होकर 2005 में कांग्रेस ज्वॉइन की थी। इससे पहले भी राहुल के लिए उनके कैंपेन मीडिया की चर्चा में रहे हैं।

वहीं इस साल हुए उत्तर प्रदेष विधानसभा चुनाव में उन्होंने राहुल-अखिलेश यादव को ‘करन-अर्जुन की जोड़ी’ करार दिया था। यहीं नहीं मतदाताओं को आक्रशित करने के लिए उन्होंने ‘राहुल गुलाब’ भी वितरित किए थे।

You May Also Like

English News