देहरादून के मोहकमपुर में भारी बारिश, बादल फटने जैसे हालात बने, सहमे लोग

मोहकमपुर में बृहस्पतिवार की रात अचानक भारी बारिश होने से बादल फटने जैसे हालात पैदा हो गए। मोहकमपुर क्षेत्र में महज 30 मिनट में 45 मिमी बारिश हुई तो तुरंत मौसम विभाग ने जिलाधिकारी और आपदा प्रबंधन विभाग को सूचित कर दिया। आनन-फानन में मौके पर एसडीआरएफ और पुलिस की टीमें मौके पर पहुंच गई। साथ ही लोगों को सतर्क करने के लिए क्षेत्र में मुनादी कराई गई। हर्रावाला चौकी इंचार्ज बृजपाल की ओर से इस संबंध में मोबाइल पर ऑडियो मैसेज भेजकर सचेत किया गया। भारी बारिश के बीच अचानक क्षेत्र में अफरातफरी देख लोग सहम गए। हालांकि, इस बीच बारिश रुक गई, जिससे प्रशासन और लोगों ने राहत की सांस ली।

बृहस्पतिवार रात करीब आठ बजे से राजधानी के अलग-अलग हिस्सों में तेज बारिश शुरू हो गई। इस दौरान मोहकमपुर क्षेत्र में आधे घंटे के दौरान करीब 45 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। वहीं सर्वे चौक क्षेत्र में भी 20 मिमी बारिश दर्ज की गई। मोहकमपुर समेत आसपास के क्षेत्रों में तेज बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने बादलों की मॉनिटरिंग शुरू कर दी। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह की अगुवाई में अधिकारियों ने भारी बारिश के आधार पर बादल फटने की आशंका व्यक्त की। उन्होंने तुरंत जिलाधिकारी एसए मुरूगेशन और आपदा प्रबंधन केंद्र अधिकारियों को सूचना दी। मौके पर एसडीआरएफ तैनात कर दी गई।

नदी किनारे के सभी इलाके खाली करा दिए गए। बादल फटने जैसे हालात की सूचना लोगों तक पहुंची तो वह सहम गए। गनीमत रही कि 30 मिनट के बाद बारिश की रफ्तार धीमी हो गई। हालांकि सुरक्षा के तौर पर रातभर एसडीआरएफ और पुलिस के जवान क्षेत्र में मुस्तैद रहे। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि सहस्त्रधारा और कुआंवाला क्षेत्र में भी भारी बारिश रिकॉर्ड की गई। गौतरलब है कि बीते माह इंदिरा नगर क्षेत्र में बादल फटने की घटना सामने आई थी। यहां एक घंटे में 100 मिमी से अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई थी। बारिश की वजह से क्षेत्र में भारी तबाही हुई थी। 

बारिश से कई इलाकों में भरा पानी
रात को करीब आधे घंटे तक हुई मूसलाधार बारिश से राजधानी के कई इलाकों में पानी भर गया। इसके चलते लोगों को खासी परेशानी झेलनी पड़ी। विशेषकर पटेलनगर, मोहकमपुर, जोगीवाला, नेहरू कॉलोनी, धर्मपुर, घंटाघर, आराघर, छह नंबर पुलिया, कारगी चौक, आईएसबीटी, माजरा, मंडी समेत कई अन्य क्षेत्रों में जलभराव के कारण लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ी। 

You May Also Like

English News