दो-तिहाई बिजनेस को भारतीय स्वाद में तब्दील करेगी कोका कोला, फ्रूट जूस पर रहेगा फोकस

ग्लोबल ब्रीवरेज कंपनी कोका कोला जहां जापान में अपना पहला अल्कोहॉलिक ड्रिंक उतार रही हैं, वहीं भारत को लेकर कंपनी की अलग प्लानिंग है। कंपनी भारत में जल्द ही अपना नारियल पानी लॉन्च करने जा रही है। इसके साथ ही वो प्रत्येक राज्य के प्रमुख शीतल पेय या फिर जूस पर भी अपना फोकस रखेगी।  दो-तिहाई बिजनेस को भारतीय स्वाद में तब्दील करेगी कोका कोला, फ्रूट जूस पर रहेगा फोकस

पहली बार भारत में होगा प्रयोग
गर्मियों का सीजन शुरू होने पर जब आप अपनी प्यास बुझाने के लिए कोल्ड ड्रिंक की बोतल खोलेंगे, तो उसमें विभिन्न फलों के जूस का फ्लेवर भी मिलेगा। विश्व की सबसे बड़ी कोला कंपनी– कोका कोला इस तरह का प्रयोग पहली बार भारत में करने जा रही है। कोका कोला इंडिया और दक्षिण-पश्चिम एशिया के अध्यक्ष टी कृष्णकुमार ने कहा कि हमारा विचार है कि एक अवधि के बाद हमारे पास एक-तिहाई वैश्विक उत्पाद हों और दो-तिहाई ऐसे उत्पाद हो, जोकि स्थानीय उत्पादों पर आधारित हों।

इन ब्रांड्स में होगा बदलाव
कंपनी अपने सॉफ्ट ड्रिंक ब्रांड स्प्राइट, लिम्का और फेंटा में यह बदलाव करने जा रही है। कंपनी इन ब्रांड्स में फ्रूट जूस भी लेकर के आएगी, जिनमें नारियल पानी, मौसमी-संतरे का जूस और आमरस शामिल हैं। यह जूस उन फलों से तैयार किया जाएगा, जिन्हें कंपनी सीधे किसानों से खरीदेगी। 

कोका कोला अपनी पॉलिसी में इसलिए बदलाव करने जा रही है, क्योंकि अब लोग स्वास्थ्य के प्रति काफी संजीदा हो गए हैं। ऐसे में अब देश में कोल्ड ड्रिंक के बजाए लोग जूस ज्यादा पीने लगे हैं। कंपनी को उम्मीद है फलों का जूस कोल्ड ड्रिंक में मिलाने से उसकी सेल्स में बढ़ोतरी होगी। इससे देश भर के किसानों को तो लाभ होगा ही, साथ ही सरकार की तरफ से टैक्स में छूट भी मिलेगी। 

कंपनी ने किया फ्रूट जूस की तरफ फोकस
कोक ने भी लोगों का रूझान देखते हुए अब अपना फोकस हेल्थ बेस्ड फ्रूट ड्रिंक्स की तरफ कर लिया है। कंपनी भी मिनट मेड के नाम से संतरा, नींबू और मौसमी जूस बेच रही है। अब कोल्ड ड्रिंक में फ्रूट जूस मिलाने से कंपनी को उम्मीद है कि उसका मार्केट शेयर भी बढ़ जाएगा।   

You May Also Like

English News